--Advertisement--

पोल से टकरा कर पलटी रोडवेज बस, करंट बंद होने से बची 60 सवारों की जान

उदयपुर-बांसवाड़ा मार्ग पर जोगीघाटी में हादसा, एक घंटा लगा जाम

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 03:35 AM IST

झल्लारा/उदयपुर. उदयपुर-बांसवाड़ा मुख्य मार्ग पर झल्लारा थाना क्षेत्र के जोगी घाटी के पास एक अनियंत्रित रोडवेज बस सड़क किनारे लगे डीपी पोल से टकरा कर पलट गई। बस में सवार 7 यात्री घायल हो गए। बस के टकराते ही बिजली बंद हो जाने से बड़ा हादसा टल गया।


जानकारी अनुसार, उदयपुर से बांसवाड़ा जा रही राेडवेज के बांसवाड़ा डीपो की बस दुर्घटनाग्रस्त हुई। गुरुवार दोपहर करीब डेढ़ बजे झल्लारा थाना क्षेत्र के जोगी घाटी के निकट बस लहराते हुए सड़क किनारे लगे बिजली के डीपी पोल से टकरा गई।

बस की टक्कर से बिजली की हाई टेंशन लाइन पोल सहित नीचे गिर गई वहीं बस मिट्टी के ढेर पर पलट गई। जिस समय हादसा हुआ उस समय बिजली की लाइन में करंट प्रवाहित था, जिससे बस में कुछ सेकंड के लिए करंट भी दौड़ा, जिसके झटके यात्रियों को भी लगे, लेकिन फाल्ट से बिजली बंद हो जाने से 60 यात्रियों की जान बच गई। अन्यथा बस में आग भी लग सकती थी।

बस में करीब 60 यात्री सवार थे, जो उदयपुर से बांसवाड़ा के बीच आने वाले विभिन्न स्थानों को जा रहे थे। आस-पास के लोगों ने बस में लकड़ी की सीड़ी और पीछे का कांच फोड़ कर बस में फंसी सवारियों व उनके सामान को बाहर निकाला।

बस में सवार अधिकांश छात्र-छात्राएं हादसे से भयभीत होकर रोने लग गए। जिनको ग्रामीणों ने ढाढ़स बंधवाया। घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। घायलों को अस्पताल पहुंचाने के बाद शेष राहगीर अन्य वाहनों से गंतव्य तक पहुंचे।


बस के टैंक से गिर रहा था डीजल, बाल्टी व घडे़ में भरा
बस पलटने के बाद बस के टैंक से डीजल रिस रहा था, जो कुछ देर तक तो सड़क पर गिरा। बाद में ग्रामीणों ने घडे़, चरू बाल्टी लगा कर डीजल भर लिया और ले गए। यात्रियों ने बताया की चालक उदयपुर से ही बस को लापरवाही से चला रहा था। बस में सवार दो युवतियों ने बताया कि बस चालक की लापरवाही से बस केवड़ा की नाल में भी पलटने से बाल-बाल बची थी।

जेसीबी की सहायता से बस को हटाया, एक घंटे जाम

हादसे के बाद बस सड़क पर ही पलट गई, जिससे उदयपुर-बांसवाड़ा मुख्य मार्ग पर जाम लग गया। करीब एक घंटे तक सड़क के दोनों छोर पर आवागमन बंद रहा। जिससे सड़क पर करीब एक एक किमी तक वाहनों की लंबी कतार लग गई। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे थानाधिकारी नागेंद्र सिंह राठौड़ ने जेसीबी की सहायता से बस को हटवाया। इसके बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हुई। पुलिस ने फरार चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

ये हुए घायल

सलावता निवासी महेंद्र पुत्र दलपत राजपूत, बांसवाड़ा के डुंगरा निवासी मनोज पुत्र रीहा चरपोटा, पीपलखूंट थाना क्षेत्र के बोरी निवासी बबली पुत्री होकमा मीणा, धावडा देव निवासी तेलू पत्नी नाथु मीणा, सुमेल फला निवासी खाना पुत्र मोहा मीणा, कुशलगढ़ थाना क्षेत्र के डुंगरथीत निवासी रक्षा पुत्री थानु डामोर, सुखेर के मीरानगर निवासी महेन्द्र पुत्र महादेव शर्मा को चोटें व करंट के झटके लगे। झल्लारा पंचायत समिति में लगी गाड़ी से सभी को सलूंबर अस्पताल पहुंचाया गया।

चालक भागा, कंडक्टर ने की मदद
दुर्घटना के बाद बस चालक तो मौका पाकर भाग निकला। बस कंडक्टर ने यात्रियों को धीरज बंधाया और खिड़की का कांच तोड़ते हुए बाहर निकलने में मदद की। सूचना के बाद थानाधिकारी नागेंद्र सिंह राठौड़, एएसआई मोहनसिंह चूंडावत, महेंद्र सिंह शक्तावत, गंगाराम पटेल मौके पर पहुंचे।