Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Six Accused Arrested For Jain Muni Kidnapping

जैन मुनि के किडनैपिंग के छह आरोपी अरेस्ट, 55 हजार रुपए में तय किया था सौदा

आचार्य भाग्यपूर्ण सूरीश्वर का अपहरण करने वाले मामले में स्पेशल टीम ने छह आरोपियों को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 30, 2017, 06:53 AM IST

  • जैन मुनि के किडनैपिंग के छह आरोपी अरेस्ट, 55 हजार रुपए में तय किया था सौदा

    पाली.सांडेराव थाना इलाके के केनपुरा-लापोद मार्ग पर स्थित श्री मणिभद्र जैन तीर्थस्थल से गत 23 दिसंबर की रात को जैन मुनि आचार्य भाग्यपूर्ण सूरीश्वर का अपहरण करने वाले मामले में स्पेशल टीम ने छह आरोपियों को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। इनमें देसूरी निवासी फारुख मोहम्मद ने अपने साथी दिलदार खान के मार्फत तीर्थस्थल में ही रहने वाले संत भाग्य शेखर से 55 हजार रुपए की सुपारी ली थी।

    अपहरण की घटना में देसूरी निवासी शंकरनाथ, राजूनाथ, प्रकाश नाथ कावरियानाथ भी शामिल था। इनमें मुख्य आरोपी फारुख ने दो-दो हजार रुपए में सौदा तय किया था। घटनावाली रात को शराब पार्टी करने के बाद शंकरनाथ की जीप में केनपुरा के जैन मंदिर से जैन मुनि का अपहरण किया। एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि घटना में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनसे घटना में शामिल अन्य आरोपियों के साथ साथी जैन मुनि की भूमिका के बारे में गहनता से पूछताछ की जा रही है। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

    इस टीम ने कड़ी जोड़ते हुए मुल्जिम पकड़े

    घटना के बाद एएसपी ज्योतिस्वरूप शर्मा, बाली एएसपी अताउर रहमान के निर्देशन में सीओ सुमेरपुर अमरसिंह चंपावत के नेतृत्व में स्पेशल टीम बनाई गई। टीम में सांडेराव एसएचओ सीमा जाखड़, नाडोल चौकी प्रभारी कमलसिंह, सांडेराव थाने के हैडकांस्टेबल सज्जनसिंह देसूरी थाने के कांस्टेबल बृजकिशोर अमरचंद को शामिल किया गया। इसी टीम ने कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया।

    सभी आरोपी आला दर्जे के बदमाश, पूर्व में भी दर्ज हैं अपराधिक मामले, दिलदार था जैन मुनि के संपर्क में

    पुलिस ने इस प्रकरण में मुख्य आरोपी देसूरी निवासी फारूख मोहम्मद पुत्र अशरफ मोहम्मद, दिलदार खान उसके साथी शंकरनाथ, राजूनाथ, प्रकाश नाथ कावरिया नाथ को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी आला दर्जे के अपराधी हैं, जिनके खिलाफ पूर्व में भी आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। देसूरी निवासी दिलदार खान पूर्व से ही केनपुरा के जैन मंदिर में रहने वाले जैन मुनि भाग्य शेखर के संपर्क में था। उसी ने भाग्य शेखर फारुख के बीच बातचीत करवाकर अपहरण की सुपारी दिलाई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×