--Advertisement--

रेप की नीयत से बंदी बनाने के दोषी काे 3 साल कैद, 10 हजार जुर्माना भी

2015 में अंबामाता थाने में दर्ज कराई थी रिपोर्ट

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 05:29 AM IST

उदयपुर. पूलां कच्ची बस्ती निवासी एक बालिका को दुष्कर्म की नीयत से बेहोश कर एक मकान में बंद करने के दोषी प्रेम लाल गमेती उर्फ प्रेम पुत्र लालू राम गमेती को पोक्सो एक्ट के विशिष्ट न्यायाधीश वीरेंद्र कुमार जसूजा की अदालत ने मंगलवार को 3 वर्ष की कैद व 10 हजार रुपए जुर्माना भरने की सजा सुनाई। अदालत ने पोक्सो एक्ट की धारा 8 के तहत तीन वर्ष की कैद व 5 हजार जुर्माना और धारा 342 के तहत छह माह की कैद व 500 रुपए जुर्माना सुनाया। 14 नवंबर 2015 को पूलां निवासी एक श्रमिक महिला ने रिपोर्ट अंबा माता थाने में दर्ज कराई थी।

- महिला ने बताया था कि वह अपनी दो नाबालिग बेटियों को घर पर छोड़कर मजदूरी करने गई थी। इस दौरान किसी ने सूचना दी कि उसकी छोटी बेटी घर से लापता है। उसकी तलाश शुरू की।

- पड़ोसी भैरू लाल नायक व जमना देवी ने प्रेम लाल के घर जाकर देखा तो एक कोने में बालिका बेहोश पड़ी थी। होश में आने पर उसने बताया कि वह प्रेम लाल के घर के बाहर से निकल रही थी।

- इस दौरान प्रेम लाल ने उसे जबरन घर में घसीटकर दरवाजा बंद कर दिया और दुष्कर्म करने का प्रयास किया। वह बचाव के लिए दरवाजे की तरफ भागी थी फिर दरवाजे से सिर टकरा जाने पर बेहोश हो गई थी।