Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Stolen Management Of Thieves Gang Like MBA Pass

वारदात के बाद चुराए बकरे और शराब से ही होती थी पार्टी, घर का राशन भी चोरी का

बाइक चाेर गिरोह पकड़ने का मामला: पढ़ाई में चौथी-पांचवीं पास ही लेकिन चोरी का मैनेजमेंट एमबीए पास जैसा

Bhaskar News | Last Modified - Dec 21, 2017, 07:15 AM IST

  • वारदात के बाद चुराए बकरे और शराब से ही होती थी पार्टी, घर का राशन भी चोरी का
    +2और स्लाइड देखें

    उदयपुर. हिरण मगरी थाना पुलिस के पकड़े बाइक चोर गिरोह के आरोपी भले ही चौथी-पांचवीं पढ़े-लिखे हैं, लेकिन उनका चाेरी का मैनेजमेंट एमबीए पास को भी हैरानी में डाल देना वाला है। इस चोर गिरोह का सरदार (मुखिया) ज्यादा बाइक चुराने वाला ही बनता था। गिरोह के सदस्य शहर में घुसते ही सरदार के इशारे पर पलक झपकते ही बाइक चाेरी की वारदात काे अंजाम देते थे। इसका खुलासा हिरण मगरी थाना पुलिस के पकड़े बाइक चाेरी के चार आरोपियों से हुआ है।

    - पुलिस पड़ताल में सामने आया है कि आरोपी खाने-पीने जैसे शौक भी चोरी से ही पूरे करते थे। पुलिस अब इनके बताए ठिकानों पर दबिश देकर जांच कर रही है। आरोपियों के घर में राशन खत्म हा़े जाता था ताे उसे भी चाेरी कर लाते थे।

    - पुलिस के अनुसार आरोपी आस-पास की राशन की दुकानों में रैकी करते थे फिर मौका मिलते ही सामान चोरी कर ले जाते थे।

    6 माह में 60 बाइक चुराकर पांसूराम बना गैंग का सरदार
    - आरोपियों में पांसू राम उर्फ पासिया उर्फ पांसू उर्फ वासुराम पुत्र इन्द्र मल मीणा ने पिछले 6 माह में रिकॉर्ड 60 बाइक चाेरी कीं। इसीलिए उसे गैंग का सरदार बनाया गया।

    - इसके बाद उप मुखिया यानी सह-सरदार का दर्जा पारसोला निवासी उंकार उर्फ अनिल पुत्र धूलिया मीणा काे मिला, जिससे पुलिस काे 20 बाइक बरामद हुई हैं। उंकार ने इसी अंतराल में करीब 50 बाइक चुराना बताया है।

    हर वारदात के बाद बकरा और शराब की भी चोरी करते फिर सब मिलकर करते थे पार्टी
    - पुलिस ने बताया कि सरदार के इशारे पर गैंग के गुर्गे बाइक चाेरी की वारदात काे अंजाम देने में सफल हाे जाते थे ताे मुखिया काे पार्टी देनी पड़ती थी।

    - बाइक चोरी के बाद बकरा चोरी का प्लान बनाते थे फिर उसी रात कहीं न कहीं से बकरा उठा कर ले आते थे। इसमें भी शर्त यह हाेती थी कि चुराया बकरा ही कटेगा अाैर शराब भी चुराई हुई ही चलेगी।

    - पार्टी के लिए दाेनाें सामग्रियों का इंतजाम मुखिया को ही करना पड़ेगा। फिर गांव के एक मंदिर के पास जंगल में सभी पार्टी करते थे।

    महिला दोस्त बनाने महिला के घरवालों को चाेरी की बाइक गिफ्ट करते थे
    - पुलिस ने बताया कि पूछताछ में गैंग के आरेापियों काे महिला दाेस्त बनाने का भी शौक सामने अाया है। गांव में जिस महिला से दाेस्ती करनी हाेती थी उसी महिला के घरवालों काे आरोपी चाेरी की बाइक गिफ्ट करते थे। इसके बाद कुछ समय तक उनके साथ दाेस्ती रखते अाैर बाद में अन्य की तलाश में जुट जाते।

    यह है मामला : 4 आरोपी गिरफ्तार, 106 बाइक चोरियां कबूलीं
    - हिरण मगरी थाना पुलिस ने बाइक चाेरी की वारदातों का खुलासा करते हुए 4 दिसंबर काे पांसू पुत्र इन्द्र मल मीणा और प्रतापगढ़ के आमली फला नाड लोदिया निवासी अमरलाल उर्फ भमरिया उर्फ भंवरिया पुत्र रामा उर्फ राया मीणा को गिरफ्तार किया था। इनसे 26 बाइक बरामद की थी।

    - वहीं इस मंगलवार काे गैंग के अन्य दाे आरोपियों पारसोला निवासी उंकार उर्फ अनिल पुत्र धूलिया मीणा और दिनेश उर्फ देवा पुत्र इन्द्रलाल मीणा को गिरफ्तार किया था, जिन्होंने 80 बाइक चाेरी करना कबूल की थी। कुल मिलाकर पिछले 15 दिनों में गिरफ्तार चार आरोपियों ने 106 बाइक चोरी करने की बात कबूली।

    - पुलिस ने बताया कि ये लोग मजदूरी करने शहर आते थे और शहर से बाइक उटाकर कच्चे रास्तों से वापस गांव में ले जाकर खेतों पर छिपाकर रखते थे। मौका देखते ही वे कीमती पार्ट्स बेच देते थे। 70-80 हजार तक की बाइक भी 3-4 हजार में बेच देते थे।

  • वारदात के बाद चुराए बकरे और शराब से ही होती थी पार्टी, घर का राशन भी चोरी का
    +2और स्लाइड देखें
  • वारदात के बाद चुराए बकरे और शराब से ही होती थी पार्टी, घर का राशन भी चोरी का
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Stolen Management Of Thieves Gang Like MBA Pass
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×