Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Uproar In Rajasthan Assembly Over Law And Order

'गृहमंत्री ऐसे हो रहे जैसे गाय हो, उनकी कोई सुनने वाला नहीं तो इस्तीफा दे देना चाहिए'

विधायक रामनारायण बोले-थानेदार और सीओ का ही ट्रांसफर नहीं कर सकते तो फिर करेंगे किसका?

Bhaskar News | Last Modified - Feb 08, 2018, 07:34 AM IST

'गृहमंत्री ऐसे हो रहे जैसे गाय हो, उनकी कोई सुनने वाला नहीं तो इस्तीफा दे देना चाहिए'

जयपुर. राज्यपाल के अभिभाषण पर बोलते हुए नसीराबाद विधायक रामनारायण गुर्जर ने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं को मारा, हमने आपके यहां 15 मिनट धरना दिया। स्पीकर ने कहा अभी सरकार को अवगत करा देता हूं। उसका हाल यह हुआ कि आज तक कुछ नहीं हुआ। हमारे कार्यकर्ता पिटे पर एफआईआर तक नहीं हुई और दूसरे पक्ष को घर से बुलाकर एफआईआर दर्ज कर ली। यह हाल है सरकार का। गृहमंत्री कोई बात मानने को तैयार नहीं है। गृहमंत्री ऐसे हो रहे हैं जैसे गाय हो। मैं कह रहा हूं कि उन्हें शर्म आनी चाहिए। गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए, इसलिए कि उनकी कोई सुनने वाला ही नहीं है। थानेदार, सीओ और एसपी का ट्रांसफर कर नहीं सकते तो फिर करेंगे किसका....आप आराम कर लो। थक गए होंगे। गुर्जर ने कानून व्यवस्था, चिकित्सा, सड़क से लेकर हर मुद्दे पर सरकार को घेरा, लेकिन उनके गृहमंत्री को गाय कहे जाने पर पक्ष-विपक्ष के विधायकों में जोरदार बहस शुरू हो गई।

#ऐसे चले विधायकों व मंत्रियों के शब्दों के तीर

मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर : माननीय सदस्य ने कहा है कि गृह मंत्री जी गाय बन गए हैं... इस तरह गाय बनना...।
गोविंदसिंह डोटासरा लक्ष्मणगढ़ :गृह मंत्री जी नहीं बने हैं तो आप बन जाओ...
कालूलाल गुर्जर : मैं तो गृह मंत्री जी का शुभचिंतक हूं...
राजेंद्रसिंह राठौड़ :यह बनेंगे तो सांड बनेंगे...।
कालूलाल गुर्जर : पर उनको गाय कहना तो वाजिब नहीं है ... गाय तो दूध देती है...या तो इस शब्द को निकालो या फिर बताओ कि उन्हें गाय क्यों कहा?
श्रवणकुमार सूरजगढ़ : आपको भी तो गाय बना दिया...यादवों को बिठाओ...सबको गाय बनाकर छोड़ दिया।
कालूलाल गुर्जर : गाय जानवर होता है। इसलिए इस शब्द को निकालो।
उपाध्यक्ष :किसी और के मन भी कोई बात हो तो निकाल लो...।
घनश्याम तिवाड़ी :मंत्री जी गाय हैं या नहीं, इस पर हम तो एक्सपर्ट नहीं। गोपालन मंत्री ही कुछ कह सकते हैं।
उपाध्यक्ष : गोपालन मंत्री जी, आप ही अपने श्रीमुख से कुछ फरमाइए।
गोपालन मंत्री ओटाराम देवासी: गो हमारी राष्ट्रीय माता है। इसलिए गृह मंत्री को गाय कहें, यह ठीक नहीं।
राजेंद्र राठौड़ : गाय में कितने देवी-देवताओं का वास है? यह तो बताओ।
ओटाराम देवासी : 33 करोड़ देवी देवताओं का।
राजेंद्र राठौड़ :हमारे गृह मंत्री जी में भी 33 करोड़ देवी देवताओं का वास है। ये तो महामानव हैं। अब ये गाय से महामानव की संज्ञा में आ गए हैं।
घनश्याम टोडाभीम :33 करोड़ देवी देवताओं का वास तो है इनमें, लेकिन देश में जैसी गाय की हालत हो रही है ना, वैसी ही पॉजीशन इनकी हो रही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×