Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Vijay Kumar Malviya Selection In National Team

बचपन में कटा था पंजा, अब जीता सिल्वर मेडल तो नेशनल टीम में सिलेक्शन

इस समय बीए द्वितीय वर्ष के छात्र है तथा ब्यावर की निजी कॉलेज से प्राइवेट अपनी स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं।

श्याम पराशर | Last Modified - Dec 30, 2017, 07:11 AM IST

  • बचपन में कटा था पंजा, अब जीता सिल्वर मेडल तो नेशनल टीम में सिलेक्शन

    सोजत (पाली).उदयपुर में आयोजित राज्य स्तरीय 8वीं पैरा एथलीट प्रतियोगिता में समीपवर्ती देवली कलां गांव के युवा खिलाड़ी विजयकुमार मालवीय ने अपने एक हाथ के दम पर गोला फेंक प्रतियोगिता में 9.30 मीटर की दूरी पर गोला फेंकते हुए सिल्वर मैडल जीता है। इस जीत के बाद वे आगामी 24 फरवरी को हरियाणा के पंचकुला में आयोजित राष्ट्रीय स्तरीय पैरा एथलीट प्रतियोगिता में राजस्थान की आेर से भाग लेंगे।

    पढ़ाई खेल की तैयारी के खर्च के लिए निजी स्कूल में जाते हैं पढ़ाने

    विजय कुमार इस समय बीए द्वितीय वर्ष के छात्र है तथा ब्यावर की निजी कॉलेज से प्राइवेट अपनी स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं। उनके परिवार में पिता के अलावा कोई कमाने वाला नहीं है। इसलिए खुद के पढ़ाई के खर्च खेल की तैयारी में होने वाले व्यय के लिए वे पास के केलवाद गांव की स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के लिए जाते हैं ताकि परिवार पर उनका बोझ नहीं बढ़े। उन्होंने कहा कि वे अब राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए प्रतिदिन दो से तीन घंटे तक अपने कोच गजेंद्रसिंह केलवाद के साथ अभ्यास कर रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि वे राज्य की टीम को गोला फेंक में अव्वल रखने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेंगे।


    बचपन में रंदा मशीन में हाथ आने से गंवाना पड़ा बाएं हाथ का पंजा

    मालवीय ने बताया कि वे बचपन से ही एक एथलीट बनने का सपना संजोए हुए थे, लेकिन कुदरत को कुछ आेर ही मंजूर था, जब वे 8 साल के थे तो दादा के साथ लकडिय़ों की कटाई के लिए सोजत रोड में लगी रंदा मशीन पर गए थे। लकड़ी काटते समय उनका बुरादा एकत्रित करने के दौरान उनका ध्यान चूक गया रंदा मशीन में पंजे तक जा फंसा। आखिरकार, लंबे इलाज के बाद डॉक्टर ने उनके पंजे को काट दिया। इस हादसे से उन्हें आेर उनके परिवार को बहुत धक्का लगा। लेकिन पिता पारसमल लौहार मां प्यारी देवी ने हिम्मत बढ़ाई तथा कोच गजेंद्रसिंह केलवाद की देखरेख में गोला फेंक का अभ्यास शुरू किया।

    इस दौरान उन्होंने दिव्यांगों की छोटी प्रतियोगिताओं में कई मुकाबले जीते। इसके बाद मालवीय का जिले की पैरा एथलीट टीम से गोला फेंक में उनका चयन हो गया। उसके बाद उन्होंने उदयपुर में आयोजित राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में अपने एक हाथ के दम पर 9.30 मीटर की दूरी पर गोला फेंक में राज्यभर में दूसरा स्थान प्राप्त करते हुए सिल्वर मेडल हासिल कर पाली जिले का मान बढ़ाया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Vijay Kumar Malviya Selection In National Team
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×