--Advertisement--

जेठ और उसके बेटों ने महिला पर धारदार हथियार से किया हमला, शरीर पर 25 जख्म

पुलिस टीआई ने थाने पर आकर रिपोर्ट देने को कहा तो परिजनों ने जताया आक्रोश।

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 07:00 AM IST
अस्पताल में प्राथमिक उपचार के अस्पताल में प्राथमिक उपचार के

राजसमंद(राजस्थान). सामलाती जमीन के बंटवारा विवाद के चलते शुक्रवार सुबह कांकरोली थाना क्षेत्र के एमडी गांव में महिला पर जेठ और उसके बेटों ने खेत पर काम करते वक्त धारदार हथियारों से ताबड़तोड़ वार कर घायल कर दिया। महिला पर 25 से ज्यादा वार किए। महिला के शोर करने पर आरोपी मौके से भाग गए।

छिपकर बैठे आरोपियों ने पीछे से किया हमला

- पुलिस के मुताबिक, सुबह 8 बजे हुए जानलेवा हमले में एमडी में गायरियों की बावड़ी निवासी देऊबाई (45) पत्नी मगनीराम कुमावत गंभीर घायल हो गईं। उसके चेहरे, कंधे, हाथ, पैर सहित पूरे शरीर पर धारदार हथियार से 25 से ज्यादा घाव हुए।

- इस संबंध में आरोपी हमलावर जेठ रामलाल पुत्र भैरा कुमावत, उसके बेटे मीठालाल, गोवर्धन पुत्र भैरा, अर्जुन पुत्र हीरालाल, दिनेश पुत्र रामलाल सहित अन्य लोगों पर हत्या की नियत से जानलेवा हमला करने का आरोप है।

- भवन निर्माण करने वाले कारीगर महिला के पति मगरीनाम ने बताया कि देऊबाई सुबह अकेली खेत पर काम करने गई थीं। इस दौरान वहां छिपकर बैठे आरोपियों ने देऊबाई पर हथियारों से पीछे से हमला कर दिया।

टीआई ने रिपोर्ट लेने से मना कर दिया

- महिला के पति मगनी राम ने बताया कि प्राणघातक हमला होने के बाद कांकरोली पुलिस को सूचना कर दी, लेकिन पुलिस समय पर नहीं पहुंची।

- आरोप है कि कांकरोली थानाधिकारी लक्ष्मणराम विश्नोई आरके अस्पताल आए तो परिजनों ने रिपोर्ट देने की बात कही तो टीआई ने रिपोर्ट लेने से मना कर दिया और कहा कि थाने जाकर रिपोर्ट कर दो, ऐसे मामले तो होते रहते हैं।

- ऐसे में आरके अस्पताल में देऊबाई का इलाज कराने आए परिजन भड़क गए। अस्पताल में टीआई और परिजनों के बीच तीखी नोक झोंक हुई। यहां से परिजन महिला को एसपी कार्यालय लेकर पहुंचे। जहां एसपी मनोज कुमार को ज्ञापन देकर टीआई के रवैये को लेकर नाराजगी जताई।

- मामले की जांच कर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। मामले में सामान्य मारपीट की धाराओं के बजाय हत्या के प्रयास में मामला दर्ज करने की मांग की। एएसपी मनीष त्रिपाठी के समक्ष लिखित रिपोर्ट दी गई।

7 साल पहले पति पर किया था हमला
दोनों परिवारों के बीच जमीन के बंटवारे को लेकर विवाद चल रहा है। जो न्यायालय में विचाराधीन है। जमीन बंटवारे को लेकर ही सात साल पूर्व भी आरोपी परिवार के सदस्यों ने देऊबाई के पति मगनीराम पर जान लेवा हमला कर दिया था। तब भी पुलिस पर निष्पक्षता से कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया था। 8 माह पूर्व मगनीराम की बेटी सुशीला से भी मारपीट करने का आरोप है।