--Advertisement--

महिलाएं फूलों से बना रही हैं हर्बल गुलाल, फॉरेस्ट डिपार्टमेंट दे रहा रोजगार

4 क्विंटल गुलाल किया तैयार, दूसरे राज्यों से आ रहे हैं ऑर्डर

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 07:28 AM IST

उदयपुर. हमारी होली को कैमिकल फ्री बनाने के लिए वन विभाग से जुड़ी वन समितियों में हर्बल गुलाल बनना शुरू हो गया है। समितियों से जुड़ी आदिवासी महिलाओं ने हरे, लाल, बैंगनी, पीले और केसरी रंग का एडवांस ऑर्डर पर 4 क्विंटल गुलाल तैयार कर लिया है। गुलाल बनाने से लेकर इसकी पैकिंग सहित मार्केट तक पहुंचाने का पूरा काम ये आदिवासी महिलाएं ही कर रही हैं।

- डीएफओ ओपी शर्मा ने बताया कि कोटड़ा की देवला वन मंडल की सुरक्षा एवं प्रबंध समितियाें की महिलाएं हर्बल गुलाल बना रही हैं। समिति से चार समूह जुड़े हुए हैं, इनमें हर समूह में 15 से 20 महिलाएं काम कर रही है।

- गुलाल बनाने के लिए सामग्री एकत्रित करना, उसे सुखाना, उससे गुलाल बनाना और पैकिंग कर मार्केट में पहुंचाने सहित सभी काम महिलाएं ही कर रही हैं। होली से लगभग डेढ़ माह पहले ही एडवांस ऑर्डर मिलचुके हैं।


उदयपुर के बाजार में भी बढ़ी हर्बल गुलाल की मांग

वन समिति सदस्यों ने बताया कि पहले हर्बल गुलाल के बड़े ऑर्डर अहमदाबाद, दिल्ली से ही आते थे, लेकिन इस साल उदयपुर से भी बड़े ऑर्डर आए हैं। सौ-प्रतिशत प्राकृतिक होने से यह गुलाल स्वास्थ्य और त्वचा के लिए हानिकारक नहीं है।