--Advertisement--

2 घंटे में 2 वर्ल्ड रिकॉर्ड: 11 हजार घरों में बांटे लड्‌डू, 5200 जोड़ी पुराने जूते जमा किए

2600 युवाओं ने एकत्र किए पुराने जूते ताकि गरीब के पांव न रहें खाली, गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज

Danik Bhaskar | Mar 19, 2018, 05:26 AM IST

उदयपुर. नव संवत्सर पर रविवार को उदयपुर में सामाजिक सरोकार के दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बने। महज दो घंटे के अंदर 11 हजार घरों में लड्‌डू, बजरंगबली की तस्वीर व हनुमान चालीसा की पुस्तक बांटी गई, वहीं इस दौरान ही जरूरतमंदों की मदद के लिए घरों से 5200 जोड़ी जूते एकत्रित किए गए। नमो विचार मंच के महज दो घंटे में किए गए इन दोनों कामों के रिकॉर्ड गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुए। अभियान में करीब 2600 युवा जुड़े, जिनकी 26 अलग-अलग टीमें बनाई गई थी। अभियान हिरण मगरी सेक्टर-5 स्थित महावीर भवन से शुरू हुआ।

राजस्थान साहित्य अकादमी के अध्यक्ष डॉ. इंदुशेखर तत्पुरुष ने इसका शुभारंभ किया। सुबह 8.05 बजे से सभी सदस्य घर-घर पहुंचने लगे और लड्‌डू के साथ अन्य सामग्रियां बांटते हुए नववर्ष की शुभकामनाएं दीं। रिकॉर्ड दर्ज करने के लिए गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के कई सदस्य भी मौजूद रहे और आखिर में प्रमाण पत्र दिया। ‘विक्रमोत्सव’ के तहत नमो विचार मंच ने यह कारनामा किया। मंच के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण रतलिया ने बताया कि सामाजिक सरोकार के लिए शहर में यह अभियान चलाया गया।

आदिवासी बच्चों के चेहरों पर खुशियां लाने तीन साल से पुराने जूते बांटने का कर रहे हैं काम

‘मिशन एम-जे’ की भी शुरुआत की गई। जिसके तहत घरों से पुराने बैग व जूतों को वनवासी क्षेत्रों में बांटा जाएगा। झाड़ोल, कोटड़ा, फलासिया आदि आदिवासी क्षेत्रों में पिछले तीन साल से यह काम चल रहा है। घरों से मिले पुराने जूते आदिवासी क्षेत्रों में जरूरतमंद बच्चों को दिए जाएंगे।

टीम सदस्यों के साथ शहरवासियों में भी दिखा उत्साह

शहर में घर-घर जाकर लड्‌डू बांटने और पुराने जूते लेने के दौरान टीम सदस्यों के साथ शहरवासियों में भी भारी उत्साह देखा गया। शहरवासियों ने जहां टीम सदस्यों का स्वागत कर हौसला बढ़ाया वहीं सड़कों पर भी लोगों ने उनकी तारीफ की। कई परिवार के सदस्यों ने घर में पुराने जूते पैक कर रखे थे जो सदस्यों के पहुंचने पर दे दिए।

टीम में शामिल रहे ये सदस्य
मौके पर समाजसेवी कनक मेहता, महंत सुरेश गिरि के साथ टीम के सदस्य सीए प्रीतेश जैन, गौरव पाठक, संजय चंदेल, भुवनेश्वर श्रीमाली, डॉ. प्रीति सोलंकी, जया कुचरू, सत्येन्द्र धनावत, अनिता शर्मा, रितेश मेहता, रोहित अग्रवाल, गौरव तिवारी, पराग कंधारी, नितिन चौबीसा, श्रवण पटेल, विशाल शुक्ला, अजय सिंह, कपिल दया, आशीष शर्मा, चिराग कोठारी, डॉ. पुलकित चतुर्वेदी, कपिल नाचानी, सुरेश नागदा, रोहित चौधरी आदि शामिल थे।