Hindi News »Rajasthan »Udaipur» घर के सामने अस्पताल, समय पर पहुंच गया लेकिन इलाज में देरी ने ले ली जान

घर के सामने अस्पताल, समय पर पहुंच गया लेकिन इलाज में देरी ने ले ली जान

सीने में दर्द की शिकायत पर युवक घर के सामने सरकारी अस्पताल पहुंच गया, लेकिन इलाज में देरी के कारण युवक ने दम तोड़...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 06:10 AM IST

घर के सामने अस्पताल, समय पर पहुंच गया लेकिन इलाज में देरी ने ले ली जान
सीने में दर्द की शिकायत पर युवक घर के सामने सरकारी अस्पताल पहुंच गया, लेकिन इलाज में देरी के कारण युवक ने दम तोड़ दिया। लोगों ने देरी के लिए एक डॉक्टर को जिम्मेदार मानते हुए विधायक को शिकायत करते हुए उसके तथा स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। नेहरू मार्ग निवासी धीरज (38) पुत्र संजय पूर्बिया को गुरूवार रात करीब 11 बजे सीने में दर्द हुआ। इस पर वह अपने घर के सामने ही स्थित सरकारी अस्पताल पहुंचा। अस्पताल में कोई डाॅक्टर मौजूद नहीं था। अधीनस्थ स्टाफ व मृतक के मित्रों ने आॅन ड्यूटी डॉक्टर को सरकारी आवास से बुलाया। आरोप है कि डाॅक्टर करीब 20 मिनट देरी से अस्पताल पहुंचा, तब तक धीरज की मौत हो चुकी थी। मौत की खबर लगते ही त्योहार की खुशियां मातम में बदल गई। शुक्रवार को विधायक अमृतलाल मीणा मृतक के घर पहुंचे। यहां अंतिम संस्कार में शामिल होने आए लोगों ने विधायक के समक्ष अस्पताल प्रबंधन पर काफी रोष जताया। पार्षद राकेश पूर्बिया के नेतृत्व में विधायक को ज्ञापन भी सौंपा गया, जिसमें संबंधित डॉक्टर पर ड्यूटी के प्रति लापरवाही बरतने के आरोप लगाए। वहीं पूर्व में हुई मौतों का हवाला देते हुए डाॅक्टरों पर मनमानी का आरोप लगाया। दोषी डाॅक्टर के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने तथा अस्पताल के सभी चिकित्सकों को बदलने की मांग की गई। इस दौरान कृष्णकांत ताजावत, चेतन पूर्बिया, संजय शर्मा, मनोहरसिंह, प्रहलाद, अवंतिलाल पूर्बिया, यशवंत, गजेंद्र आदि मौजूद थे। मुख्यालय के राजकीय सामान्य चिकित्सालय में गुरूवार रात एक युवक की मौत हो गई। घटना के बाद नगरवासियों ने चिकित्सा व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए ड्यूटी पर तैनात डाॅक्टर के खिलाफ रोष जताया। इधर, आक्रोषित लोगों ने मृतक के अंतिम संस्कार से पूर्व विधायक को बुलाया और जिम्मेदार डाॅक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने और पूरे स्टाफ को बदलने की मांग की।

धीरज पूर्बिया

चक्कर आने से नहर में गिरी महिला की मौत, मौताणे पर बनी सहमति तो तीसरे दिन हुआ अंतिम संस्कार

कोटड़ा| चक्कर आने से बक्सा बांध की नहर में गिरने से विवाहिता की मौत हो गई। होली के कारण पीहर पक्ष के लोग तीसरे दिन पहुंचे। पूरे दिन चली समझौता वार्ता में दो लाख रुपए पर सहमति के बाद शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया।

जानकारी के अनुसार एक मार्च को महाड़ी निवासी बतली 50 प|ी जोगा बुंबरिया को चक्कर आने की परेशानी थी। उस रोज भी वो किसी काम से जा रही थी। इस दौरान चक्कर आने से वह नहर में जा गिरी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर थानाधिकारी देवीसिंह जाप्ते के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कोटड़ा सीएचसी मुर्दाघर पहुंचाया। मामले में पीहर पक्ष को उसी दिन सूचना की, लेकिन होली का त्योहार होने से मृतका के पीहर उमरिया गांव से लोग शनिवार को पहुंचे। उसके बाद दोनों पक्षों के बीच वार्ता शुरू हुई। लोगों के अनुसार मामले में मौत का जिम्मेदार ससुराल पक्ष को बताते हुए पीहर पक्ष ने शव उठाने से इंकार कर दिया। पुलिस ने समझाइश कर घटना की जानकारी दी, लेकिन पीहर पक्ष के लोग मानने को तैयार नहीं हुए। दिन भर चली वार्ता के बाद मौताणा राशि दो लाख रुपए तक पहुंची तो उस पर सहमति बनने से मामला शांत हो पाया। पीहर पक्ष को ससुराल पक्ष की ओर से मौके पर 30 हजार रुपए दिए गए। अन्य राशि के लिए आगामी महीनों में तारीखें तय हुईं। इसके बाद शव का पीएम कर परिजनों को सौंप दिया गया।

नाडी में गिरने से युवक की मौत

गोगुंदा | थाना क्षेत्र के मजावद गांव में जल स्वावलंबन अभियान के तहत बनाई गई नाड़ी की पाल से फिसलकर पानी में गिरने से युवक की मौत हो गई। थाने के एएसआई रूपलाल ने बताया कि नाथूलाल (35) पुत्र खेमाराम गमेती बकरियां चराने के लिए गया था। दोपहर में नाडी के पास गुजरते समय पांव फिसलने से वह नाड़ी में गिर गया और डूबने से उसकी मौत हो गई। पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से शव को बाहर निकाला। शाम को गोगुंदा अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम करवाया गया। जानकारी के अनुसार एमजेएस के तहत बनाई गई नाडी की पाल पर पत्थरों की पिचिंग नहीं की गई है। इस कारण ज्यादा पानी आने पर नाडी के फूटने व पाल की मिट्टी गीली रहने के कारण फिसलने की आशंका भी रहती है।

दो हादसों में दो युवकों की मौत

सेमारी/डबोक | सेमारी क्षेत्र के कुराड़िया में सड़क किनारे खड़े बाइक सवार को मारी कार ने टक्कर। दूसरे हादसे में उदयपुर-चित्तौड़ मार्ग पर दो कारें आमने-सामने भिड़ी। दोनों हादसों में दो युवकों की मौत हाे गई।

सेमारी क्षेत्र में शुक्रवार को उदयपुर रोड स्थित पाल कुराड़िया मोड़ पर सड़क किनारे खड़े बाइक सवार युवक की कार की चपेट में आने से युवक की मौत हो गई। थानाधिकारी श्यामसिंह के अनुसार पलूणा निवासी जयशंकर मीणा ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि धुलंडी की सुबह वह अपने चचेरे भाई जितेश पुत्र गणेशलाल मीणा के साथ बाइक लेकर सदकड़ी में रिश्तेदार के यहां ढूंढाेत्सव में भाग लेने जा रहा था। पाल कुराड़िया के मोड़ पर वह शौच करने गया। जितेश बाइक के पास खड़ा था। इस दौरान जितेश को सेमारी की ओर रही कार ने चपेट में ले लिया, जिससे उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया। चालक कार सहित फरार हो गया। सूचना पर सेमारी थानाधिकारी मय जाब्ता मौके पर पहुंचे और मामला दर्ज किया। शव का सेमारी सीएचसी में पीएम करवाया गया। इसी तरह उदयपुर-चितौडग़ढ़ मार्ग पर मधुफला पेट्रोल पंप के पास शुक्रवार शाम को दो काराें की भिड़ंत से एक जने की माैके पर ही मौत हो गई। चौहान का गुड़ा निवासी भंवर सिंह देवड़ा व उसके पिता भगवत सिंह देवड़ा कार से डबोक की ओर जा रहे थे तभी उदयपुर की ओर से तेज गति से आई अन्य कार ने टक्कर मार दी जिससे भगवतसिंह देवड़ा की मौत हो गई। टक्कर मारने के बाद दूसरी कार पलट गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: घर के सामने अस्पताल, समय पर पहुंच गया लेकिन इलाज में देरी ने ले ली जान
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×