Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Former Royal Families Against Padmavati Movie

पूर्व राजघराने की महिलाएं: पद्मावती की जगह भंसाली अपनी मां पर रखे फिल्म का नाम

फिल्म पद्मावती के विरोध में अब पूर्व राजपरिवार की महिलाएं खुलकर सामने आ गई हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 18, 2017, 05:47 AM IST

  • पूर्व राजघराने की महिलाएं: पद्मावती की जगह भंसाली अपनी मां पर रखे फिल्म का नाम
    +3और स्लाइड देखें

    उदयपुर. फिल्म पद्मावती के विरोध में अब पूर्व राजपरिवार की महिलाएं खुलकर सामने आ गई हैं। उन्होंने इसे सिर्फ रानी पद्मावती ही नहीं, बल्कि हर नारी, हर क्षत्राणी और सर्वसमाज की आस्था का अपमान बताया है। पूर्व राजघराने के महेंद्र सिंह मेवाड़ की बेटी बैजीराज त्रिविक्रमा कुमारी जमवाल, पत्नी निरुपमा कुमारी मेवाड़ और रणधीर सिंह भींडर की पत्नी दीपेंद्र कुंवर भींडर ने दैनिक भास्कर से बातचीत में कहा है कि फिल्मकारों को इतिहास में बॉलीवुड तड़का लगा गलत तथ्यों पर आधारित फिल्में बनाने की आदत हो गई है। हर बार चुप बैठ गए तो अगली बार फिर कोई ऐसी फिल्म आ जाएगी। देशभर में सर्व समाज इस फिल्म के रिलीज होने के विरोध में आ चुका है। इसके बावजूद भंसाली माफी मांगने के बजाए फिल्म रिलीज करवाने का प्रयास कर रहे हैं।

    भंसाली फिल्म का नाम पद्मावती की जगह अपनी मां लीलावती पर रखे

    दीपेंद्र कुंवर भींडर का कहा कि दीपिका पादुकोण ने माफी मांगने के बजाए चुनौती दी है कि फिल्म रिलीज होकर रहेगी, ऐसे में लोग गुस्से में धमकी भरी टिप्पणी कर रहे हैं तो कौन-सी बड़ी बात है। संजय लीला भंसाली को मेरी सलाह है कि वे फिल्म का नाम रानी पद्मावती के बजाए अपनी मां लीलावती के नाम पर रख लें, तो शायद उन्हें इस अपमान का एहसास होगा। जब यह फिल्म बन रही थी, तब ही मैंने भंसाली के असिस्टेंट को ई-मेल कर कहा था कि इतिहास से छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए। उस समय भरोसा दिलाया था कि ऐसा कुछ नहीं होगा।

    आज कुंभलगढ़ दुर्ग को बंद रखने की चेतावनी

    फिल्म पद्मावती के विरोध में करणी सेना ने शनिवार को ऐतिहासिक कुंभलगढ़ दुर्ग बंद करने की चेतावनी दी है। सुबह 10 बजे दुर्ग पर सर्व समाज की आमसभा होगी। करणी सेना के राष्ट्रीय महासचिव गोविंद सिंह सोलंकी ने बताया कि कुंभा के दुर्ग पर अंहिसात्मक आंदोलन शुरू किया जाएगा। सोलंकी ने बताया कि विदेशी पर्यटकों को परेशानी नहीं हो, इसे ध्यान में रखते हुए उन्हें दुर्ग पर जाने की छूट रहेगी। जबकि भारतीय पर्यटकों को दुर्ग पर प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। केलवाड़ा थानाधिकारी योगेश चौहान ने जिला मुख्यालय से अतिरिक्त पुलिस जाप्ता बुलाया है।

    फिल्म पर रोक की राष्ट्रपति से मांग

    विद्या प्रचारिणी सभा के मंत्री डॉ. महेन्द्रसिंह राठौड़ ने फिल्म के प्रदर्शन पर रोक की मांग को लेकर राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा है। इधर, भाजयुमो के प्रदेश उपाध्यक्ष गजपाल सिंह राठौड़ ने भी केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया है।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, फिल्म हर नारी का अपमान है, लेकिन दीपिका पर टिप्पणी गलत...

  • पूर्व राजघराने की महिलाएं: पद्मावती की जगह भंसाली अपनी मां पर रखे फिल्म का नाम
    +3और स्लाइड देखें

    फिल्म हर नारी का अपमान है, लेकिन दीपिका पर टिप्पणी गलत


    निरुपमा कुमारी मेवाड़ ने कहा कि फिल्म में सिर्फ रानी पद्मावती या मेवाड़ का अपमान नहीं, बल्कि हर क्षत्राणी और औरत का अपमान हुआ है। गौरव और बलिदान की मिसाल रानी पद्मावती को फिल्म में सभा के बीच नृत्य करते हुए दिखाया जाना बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। इतिहास पर फिल्म बनानी है तो पहले रिसर्च करें, फिर बनाएं। वहीं दूसरी ओर अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के लिए हिंसक और धमकी भरी टिप्पणी करना सही नहीं है। वह भी एक महिला है, उसे शूर्पणखा बनाने जैसी बातें शोभनीय नहीं है।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, इतिहास को गलत तरीके से दर्शाने का चलन रोकना होगा...

  • पूर्व राजघराने की महिलाएं: पद्मावती की जगह भंसाली अपनी मां पर रखे फिल्म का नाम
    +3और स्लाइड देखें

    इतिहास को गलत तरीके से दर्शाने का चलन रोकना होगा


    बैजीराज त्रिविक्रमा कुमारी जमवाल के मुताबिक, फिल्म के प्रमोशन में बताया गया है कि यह इतिहास पर आधारित है। हम संजय लीला भंसाली से पूछते हैं कि उन्होंने किस इतिहासकार या ऐतिहासिक किताब से इसकी जानकारी ली है। कहानी, दंत कथाएं या गाइड से ली जानकारियों और वास्तविक इतिहास में अंतर होता है। जोधा-अकबर फिल्म में भी कई गलत तथ्य बताए गए थे। अब इस फिल्म में रानी पद्मावती को गलत तरीके से बताकर उनका अपमान किया है। अभी विरोध नहीं करेंगे तो हर बार इतिहास में बॉलीवुड का तड़का लगाते रहेंगे।

    आगे की स्लाइड्स में पढ़ें, पूर्व राजकुमारी बोली- रिलीज नहीं होने दी जाएगी फिल्म...

  • पूर्व राजघराने की महिलाएं: पद्मावती की जगह भंसाली अपनी मां पर रखे फिल्म का नाम
    +3और स्लाइड देखें

    रिलीज नहीं होने दी जाएगी फिल्म

    - हाल ही में जयपुर की राजकुमारी दिया कुमारी ने भी फिल्म की रिलीज को लेकर बयान दिया है। उनका कहना है कि किसी भी फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर समाज की भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचाना चाहिए।

    - प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि पद्मावती के निर्देशक संजय लीला भंसाली को चित्तौड़ की रानी पद्मावती की स्टोरी को गलत तरीके से पेश नहीं करना चाहिए। उन्हें इस फिल्म में दर्शाया गये तथ्यों का सत्यापन इतिहासविदों के फोरम करवाने के बाद ही फिल्म को रिलीज करना चाहिए।
    - राजकुमारी ने आगे आगे कहा कि राजपूत समुदाय द्वारा राजस्थान के शौर्यपूर्ण इतिहास और विदेशी आक्रांताओं के विरुद्ध युद्ध में हुए अपने लोगों के बलिदान के साथ किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ की अनुमति नहीं दी जाएगी।
    - अगर यह फिल्म इतिहास के प्रामाणिक तथ्यों को प्रदर्शित नहीं करती है तो इसे रिलीज नहीं होने दिया जाएगा।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×