--Advertisement--

उम्र 7 साल और स्पीड स्केटिंग में जीते 4 इंटरनेशनल गोल्ड समेत 62 मेडल

7 साल की लब्धि सुराणा चिल्ड्रेन डे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों सम्मानित।

Dainik Bhaskar

Nov 15, 2017, 05:47 AM IST
राष्ट्रपति कोविंद और लब्धि सुराणा। राष्ट्रपति कोविंद और लब्धि सुराणा।
नई दिल्ली/उदयपुर. उदयपुर की 7 साल की लब्धि सुराणा को बाल दिवस पर मंगलवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बाल पुरस्कार से सम्मानित किया। दूसरी की छात्रा लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल जीत चुकी है। वह पौने तीन साल की उम्र से स्केटिंग कर रही है। स्पीड स्केटिंग में 62 से अधिक यानी उम्र से 9 गुना ज्यादा मेडल्स जीत चुकी लब्धि को यह सम्मान नेशनल चाइल्ड अवॉर्ड फॉर एक्ससेप्शनल एचीवमेंट-2017 श्रेणी में दिया गया। सम्मान पाने के बाद लब्धि ने दिल्ली से फोन पर भास्कर से विशेष बातचीत की और गौरवान्वित पल को साझा किया।
टेनिस सीखने आई थी लब्धि, स्केटिंग में महारथ हासिल
लब्धि के पिता कपिल ने बताया कि जब वह पौने तीन साल की थी तो उसे टेनिस सिखाने के लिए टेनिस एकेडमी ले गए थे। जहां कोच ने कहा कि टेनिस खेलने के लिए बच्ची के पैर और थाई मजबूत होने जरूरी हैं। दौड़ के लिए उसे पहले स्केटिंग का प्रशिक्षण दिलवाया गया, लेकिन टेनिस सीखने आई लब्धि का स्केटिंग में परफॉर्म देख कोच ने उसे इसी गेम में रखा और तब से वह लगातार मेडल पर मेडल जीत रही है।
बेटी ने बढ़ाया प्रदेश का मान, आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे
- लब्धि के माता-पिता अंजलि और कपिल सुराणा ने बताया कि उनकी बिटिया ने उनके साथ प्रदेश का मान बढ़ाया है। बेटी की प्रतिभा को आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। हर प्रकार का प्रशिक्षण उपलब्ध कराया है और कराते रहेंगे।
- पिता कपिल ने बताया कि लब्धि 3 साल की उम्र से ही स्केटिंग सीख रही है। वह हर दिन घंटों पसीना बहाती है। लब्धि की सफलता के पीछे माता अंजलि के साथ कोच मंजीत सिंह का महत्वपूर्ण योगदान है।
- उन्होंने बताया कि लब्धि फिलहाल कड़ी मेहनत कर रही है। इससे पहले लेकसिटी की दो बेटियों निशानेबाज अपूर्वी चंदेला और तैराक भक्ति शर्मा को राष्ट्रपति सम्मानित कर चुके हैं।
कहा- "कभी सोचा नहीं था
लब्धि ने कहा- "कभी सोचा नहीं था कि इतनी कम उम्र में राष्ट्रपति के हाथों इतना बड़ा अवॉर्ड मिलेगा। यह अब तक का सबसे बड़ा शुभ अवसर था। मेरा लक्ष्य वर्ल्ड चैम्पियनशिप है और मैं ओलिंपिक-2024 की तैयारियों में जी-जान से जुटी हूं।"
आगे की स्लाइड्स में देखें इस खबर से जुड़ीं फोटोज...
3 साल की उम्र से ही स्केटिंग सीख रही है लब्धि सुराणा। 3 साल की उम्र से ही स्केटिंग सीख रही है लब्धि सुराणा।
हर दिन प्रैक्टिस के दौरान घंटों पसीना बहाती है लब्धि। हर दिन प्रैक्टिस के दौरान घंटों पसीना बहाती है लब्धि।
लब्धि सुराणा। लब्धि सुराणा।
लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल जीत चुकी है। लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल जीत चुकी है।
लब्धि सुराणा की मां अंजलि और पिता कपिल सुराणा । लब्धि सुराणा की मां अंजलि और पिता कपिल सुराणा ।
X
राष्ट्रपति कोविंद और लब्धि सुराणा।राष्ट्रपति कोविंद और लब्धि सुराणा।
3 साल की उम्र से ही स्केटिंग सीख रही है लब्धि सुराणा।3 साल की उम्र से ही स्केटिंग सीख रही है लब्धि सुराणा।
हर दिन प्रैक्टिस के दौरान घंटों पसीना बहाती है लब्धि।हर दिन प्रैक्टिस के दौरान घंटों पसीना बहाती है लब्धि।
लब्धि सुराणा।लब्धि सुराणा।
लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल जीत चुकी है।लब्धि स्पीड स्केटिंग में 4 इंटरनेशनल गोल्ड सहित 62 मेडल जीत चुकी है।
लब्धि सुराणा की मां अंजलि और पिता कपिल सुराणा ।लब्धि सुराणा की मां अंजलि और पिता कपिल सुराणा ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..