Hindi News »Rajasthan News »Udaipur News» Police Order To Stop Padmawati Screening Was Mistake

पुलिस आदेश में पहले लिखा- पद्मावती फिल्म पर रोक, फिर कहा-टाइपिंग मिस्टेक

Bhaskar News | Last Modified - Nov 06, 2017, 06:12 AM IST

पुलिस महकमे ने सिनेमाघरों में इसके प्रदर्शन पर रोक लगाने के संबंध में थानों को बाकायदा आदेश तक जारी कर दिए।
  • पुलिस आदेश में पहले लिखा- पद्मावती फिल्म पर रोक, फिर कहा-टाइपिंग मिस्टेक
    +1और स्लाइड देखें
    पुलिस विभाग का 27 अक्टूबर और 3 नवंबर का पत्र।
    उदयपुर.पद्मावती फिल्म को लेकर प्रदेशभर में हो रहे विरोध को देखते हुए उदयपुर में तो पुलिस महकमे ने सिनेमाघरों में इसके प्रदर्शन पर रोक लगाने के संबंध में थानों को बाकायदा आदेश तक जारी कर दिए। बाद में जब इस आदेश की प्रति सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो सफाई देते हुए इसे टाइपिंग मिस्टेक बताते हुए फिल्म के रिलीज के वक्त कानून व्यवस्था बनाए रखने और जाब्ता तैनात करने की बात कही गई। फिल्म में गलत तथ्यों को लेकर विभिन्न संगठनों ने पुलिस को ज्ञापन दिए थे। दरअसल करणी सेना ने आह्वान किया है कि इस फिल्म को नहीं चलने देंगे, फिल्म में तथ्यों को गलत पेश किया गया है।
    - वहीं गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा है कि कानून व्यवस्था बिगाड़ने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। विरोध करने वाले अपना काम करें, हम अपना काम करेंगे।
    - कुछ लोग यह समझ रहे हैं कि रानी पद्मावती के सिर्फ वही हितैषी हैं तो यह गलत है। रानी पद्ममावती किसी जाति विशेष की नहीं, पूरे देश का प्रतीक है।
    - उन्होंने कहा कि अगर तथ्य गलत हैं तो उनमें सुधार किए जाने चाहिए। फिल्म में रानी पद्मावती की पवित्रता का ध्यान रखा जाना चाहिए।
    सिनेमाघरों में फिल्म के प्रदर्शन की बात गलती से लिखी गई
    पुलिस अधीक्षक के नाम से शनिवार को डीएसपी कार्यालय की ओर से थानों को जारी आदेश में पद्मावती फिल्म को उदयपुर के सिनेमाघरों में रोक लगाना लिख दिया गया था, जाे शहरभर में चर्चा का विषय बन गया। इसके बाद पुलिस की तरफ से पूर्व में जारी आदेश के बारे मेंं जानकारी दी गई। उसमें लिखा गया कि विभिन्न संगठनों ने पद्मावती फिल्म को उदयपुर के सिनेमाघरों में रोक लगाने की बात कही है। हंगामे की संभावना को देखते हुए प्रदर्शन के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखें।
    आदेश जारी करने वाले डीएसपी भगवतसिंह हिंगड़ से सवाल
    Q. 3 नवंबर का आदेश जारी हुआ जिसमें फिल्म पर रोक लगाना लिखा, क्या पुलिस रोक लगा सकती है?
    -फिल्म पर रोक लगाना पुलिस के हाथ में नहीं होता।
    Q. आदेश में फिल्म पर रोक लगाना लिखा हुआ है?
    -पुलिस अधीक्षक और एडीएम से जारी आदेश के पत्र क्रमांक का आदेश में हवाला दिया गया है जिसमें कानून व्यवस्था बनाए रखना लिखा गया है और इस लेटर का संदर्भ भी कानून व्यवस्था बनाए रखना था न कि रोक लगाना।
    विरोध के लिए हर तरह से तैयार है सेना : कुलदीप सिंह
    करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह ने कहा है कि जिला कलेक्टर और एडीएम को ज्ञापन दिए हैं, किसी भी सिनेमाघर में फिल्म को प्रदर्शित नहीं होने देंगे। विरोध पर हर स्थिति के लिए तैयार हैं। इसे लेकर 12 नवंबर को अहमदाबाद में भी रैली निकाली जाएगी। फिल्म में गलत तथ्यों को दिखाया गया है।
  • पुलिस आदेश में पहले लिखा- पद्मावती फिल्म पर रोक, फिर कहा-टाइपिंग मिस्टेक
    +1और स्लाइड देखें
    गृहमंत्री कटारिया।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Udaipur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Police Order To Stop Padmawati Screening Was Mistake
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Udaipur

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×