Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Rani Padmavati Jauhar Seen Created As Drams

फिल्म विवाद के बीच जौहर की झांकी: दिखाया रानी पद्मावती का राष्ट्रप्रेम

इन दिनों चल रहे पद्मावती फिल्म विवाद के बीच इस झांकी को लेकर खूब चर्चा हुई।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 08:09 AM IST

फिल्म विवाद के बीच जौहर की झांकी: दिखाया रानी पद्मावती का राष्ट्रप्रेम
उदयपुर. यह तस्वीर चित्तौड़गढ़ की है। बुधवार को वहां देशप्रेम से ओतप्रोत वंदेमातरम कार्यक्रम हुआ। हजारों लोगों ने एकसाथ राष्ट्रगीत गाया। इस पूरे कार्यक्रम के दौरान देशभक्ति और गौरव को दिखाती झांकियां सजाई गई। इसमें राजपूताना की जौहर झांकी कौतुहल का विषय रही। इन दिनों चल रहे पद्मावती फिल्म विवाद के बीच इस झांकी को लेकर खूब चर्चा हुई। आततायी बादशाह के साथ अंतिम निर्णायक युद्ध के बीच रानियों-दासियों का जौहर इस झांकी का कथासार रहे।
जौहर की गाथा फांसी के मंचन ने बढ़ाया जोश और जज्बा...
राजपूती परिधान में महिलाओं ने पदमिनी जौहर का जीवंत प्रदर्शन किया। कलाकारों ने आजादी आंदोलन में शहीद भगतसिंह, राजगुरु सुखदेव की फांसी का दृश्य दिखाया। देशभक्ति के इस कार्यक्रम में कई लोग अलग-अलग अंदाज में पहुंचे। करीब 200 युवा केसरिया साफा पारंपरिक वेशभूषा में रवाना हुए। पाडनपोल दरवाजे पर रानी पदमिनी को श्रद्वांजलि दी।
कई जगहों के संत पहुंचे, दिए आशीर्वचन...
मेवाड़ महामंडलेश्वर श्रीसांवलियाधाम मुंगाना के महंत चेतनदास महाराज ने बच्चों को सीख दी कि सुबह उठते ही सबसे पहले धरती माता को नमन करें। फिर माता-पिता और गुरु को प्रणाम करे। विहिप के प्रांतीय उपाध्यक्ष वैद्य लक्ष्मीनारायण जोश अभा जैन श्रमण संघ के महामंत्री श्री सौभाग्य मुनि का संदेश वाचन किया। बतौर अतिथि रामस्नेही संत रमताराम महाराज, दिग्गविजयराम महाराज, सुदर्शनाचार्य महाराज बड़ीसादड़ी, कालिकामाता मंदिर के महंत रामनारायण पुरी, नीलकंठ महादेव मंदिर केमहंत जगन्नाथ भारती, विजयपुर रामद्वारा के महंत श्रीवैष्णवदासमहाराज, अनुजादास महाराज मुंगाना धाम, विष्णुचित्रदास महाराज बड़ीसादड़ी, अनंतराम महाराज बड़ीसादड़ी, जानकीशरणदास महाराज साडास आसीन थे। संचालन लीला आगाल यशवंत नेगी ने किया। यहांकी गूंज पूरे देश में जाएगी: सभामें अपने स्वागत उदबोधन में सांसद सीपी जोशी ने कहा कि वीर भूमि पर आज राष्ट्रीयता का ज्वार उमड़ा है। यहां एक साथ इतने अधिक लोगों का वंदेमारतम गान करना हमारे लिए गौरव की बात रही है।
शहीद परिजनों का सम्मान...
शहीदों के परिवारों को भी मंच पर बिठाया शहीद जगदीश वैष्णव की पत्नी कलादेवी, शहीद राजेंद्रसिंह गंठेडी की पत्नी लीलाकंवर, शहीद रामलाल आर्य की पत्नी रमादेवी, शहीद चंदनसिंह दुर्ग की पत्नी, शहीद नटवरसिंह के परिजन मौजूद रहे। यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने लोगों को वनों वृक्षों, वन्यजीवन के प्रतीक नाग, प्राणी मात्र के प्रतीक गंगा, धरती माता, माता-पिता का सम्मान करने की शपथ दिलाई।
मंचपर आसमान से हुई पुष्प वर्षा ...
मंचपर कुछ प्रस्तुतियों के दौरान ड्रोन से पुष्पवर्षा कराई। स्टेडियम में पहले सवा दो लाख स्कवायर फीट में व्यवस्था थी। बाद में एक लाख 30 हजार स्कवायर फीट एरिया बढ़ाया। आयोजन समिति के डाॅ. आईएम सेठिया, गोपालकृष्ण चतुर्वेदी, पुष्कर नराणिया, वंदना वजीरानी, एडवोकेट प्रवीण टांक, श्रवणसिंह राव, नगर महामंत्री अनिल ईनाणी, शैलेंद्र झंवर मोनू सोनी सहित करीब 50 कार्यकर्ता व्यवस्था बनाते रहे।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×