--Advertisement--

पड़ोसन का कत्ल कर भागा था लड़का, लेकिन कपड़ों ने खोल दिया राज

हाई प्रोफाइल मर्डर केस में DNA जांच के लिए भेजी गई दिव्य के कपड़ों की रिपोर्ट वारदात के एक साल बाद अब आई।

Danik Bhaskar | Nov 23, 2017, 04:36 AM IST
रूचिता(फाइल फोटो) मर्डर केस का रूचिता(फाइल फोटो) मर्डर केस का

उदयपुर. 1 दिसंबर 2016 को हुई वकील रुचिता की हत्या के मामले में आरोपी दिव्य कोठारी के बरामद कपड़ों में जो खून के निशान लगे थे, वह रुचिता का ही खून था। DNA जांच के लिए भेजी गई दिव्य के कपड़ों की रिपोर्ट वारदात के एक साल बाद अब आई है, जिसमें ये साबित हुआ है। पुलिस के मुताबिक, हत्या के बाद दिव्य ने कपड़ों को नाले में फेंक दिया था जिसे बाद में बरामद कर DNA रिपोर्ट के लिए भेजा गया था।

हाई प्रोफाइल मर्डर केस का भास्कर ने किया था खुलासा

- 1 दिसम्बर को न्यू भोपालपुरा स्थित द ऑरबिट फर्स्ट अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 702 में महिला वकील रुचिता की हत्या फ्लैट नं. 702 पर हुई। ठीक इसके ऊपर के फ्लैट नं. 802 में रहने वाला युवक दिव्य कोठारी उसी दिन लापता हो गया। फ्लैट से एक लेटर भी मिला। पुलिस तो रुचिता के पति कृष्ण वल्लभ गुप्ता को आरोपी मान चुकी थी, लेकिन भास्कर ने पूरी वारदात पर पैरेलल इंवेस्टीगेशन कर इसी फ्लैट में रहने वाले दिव्य के आरोपी होने का सबसे पहले खुलासा कर इस केस को सही दिशा दी थी।

- 2 दिसम्बर तड़के दिव्य फतहपुरा चौकी पहुंचा। पुलिस को बताया कि वह रुचिता को मां समान मानता था।

- रुचिता के पिता दुल्लीचंद जैन ने दामाद कृष्ण वल्लभ गुप्ता पर हत्या की FIR दर्ज कराई, जिससे वह तीन दिन पुलिस कस्टडी में रहा और अपनी पत्नी के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाया।

पागल नहीं है आरोपी लड़का

- 3 दिसंबर को दिव्य ने हत्या करना कबूल किया। पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिव्य को साइको बताया, लेकिन इंवेस्टीगेशन आॅफिसर ने दिव्य को दिमागी तौर पर बिलकुल सही बताया।

- भास्कर ने यहां भी दिव्य की बीमारी को लेकर पुलिस जांच पर सवाल खड़े किए। भास्कर के उठाए सवालों पर 4 दिसंबर को पुलिस ने माना कि उनसे चूक हुई है और कहा कि दिव्य कोठारी पागल नहीं है।

- 5 दिसंबर को पुलिस ने पूरे मामले में वही खुलासा किया, जो दैनिक भास्कर ने अपनी इंवेस्टीगेशन में वारदात के दिन ही बता दिया था।

- बता दें कि जब उदयपुर के वकीलों के आरोपी का केस लड़ने से इनकार करने के बाद केस चित्तौड़ शिफ्ट किया गया था। अब तक 15 पेशियां हो चुकी हैं, अगली पेशी 24 नवंबर तय की गई है।

आरोपी का वकील बोला- पुलिस ने लगाया होगा खून

- रिपोर्ट को पुलिस और रुचिता के पति केबी गुप्ता के वकील पुख्ता सबूत मान रहे हैं, लेकिन आरोपी के वकील का कहना है कि दिव्य के कपड़े वारदात के चार दिन बाद बरामद हुए थे तो कपड़ों पर रुचिता का खून पुलिस ने लगाया हाेगा।

आगे की स्लाइड्स में देखें, इस खबर से जुड़ीं फोटोज...