Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Vandematram Sung By Fifty Thousand People Together

एक साथ 50 हजार लोगों ने गाया वंदेमातरम, पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का यूज

चित्तौड़गढ़ में एक साथ करीब 50 हजार लोगों ने वंदेमातरम गाकर नया इतिहास रचा।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 08:26 AM IST

  • एक साथ 50 हजार लोगों ने गाया वंदेमातरम, पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का यूज
    +4और स्लाइड देखें
    ड्रोन साभार | श्रवण सोनी व प्रहलाद धाकड़ फोटो | दुर्गेश शर्मा
    चित्तौड़गढ़. वीर भूमि चित्तौड़गढ़ ने बुधवार को नया इतिहास रचा। एक साथ करीब 50 हजार लोगों ने वंदेमातरम गाया। आयोजन इंदिरा गांधी स्टेडियम में हुआ। कार्यक्रम वंदेमातरम आयोजन समिति ने कराया। सवा तीन लाख वर्ग फीट में विद्यार्थियों के लिए बनाए सभी 28 ब्लॉक और दस हजार लोगों के लिए लगाई कुर्सियां खचाखच थीं। स्टेडियम के बाहर आधे किलोमीटर तक लोग वंदेमातरम गान करने जुटे थे। आयोजकों व अन्य विशेषज्ञों के मुताबिक 50 हजार लोगों ने भागीदारी निभाई। इनमें करीब 35 हजार विद्यार्थी थे।
    पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का प्रयोग
    09 वाद्य यंत्रों पर 18 कलाकारों ने दी प्रस्तुति
    150 सह कलाकार और सहयोगी
    04 टॉप स्पीकर चारों दिशाओ में
    08 बेस स्पीकर हर तीन ब्लाॅक पर
    10 मॉनीटर वाद्य यंत्रों की कंट्रोलिंग के लिए
    16 लाइनर स्पीकर दूर तक अावाज के लिए
    - 60 गुणा 40 फीट का मंच संगीत, नाटय प्रस्तुतियों के नाम था। ऊपर विशेष दीर्घा में सिर्फ संत-महात्मा और शहीद परिवार बैठे।
    - यहां पहली बार थ्री वे जेवीएल फोटेक्स साउंड सिस्टम से मुंबई से आए प्रमुख गायक महेश मोयल और शुभित द्विवेद्वी ने देशभक्ति गीतों और दिव्यांग कलाकार कमलेश पटेल ने हाथों के बल अनूठे डांस से समां बांध दिया।
    - तीन शहीदों सुखदेव, राजगुरु और भगतसिंह की फांसी का जीवंत प्रस्तुति दी गई। रानी पद्मिनी के जौहर की जीवंत प्रस्तुति से जौहर याद दिलाया। अलमशखान व राशि पटेरिया ने भी गीत प्रस्तुतियां दीं।
    - केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. सत्यपालसिंह ने संबोधित किया। यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने शपथ दिलाई। आयोजन समिति संरक्षक सांसद सीपी जोशी ने सभी का स्वागत किया।
    - शहीद परिजनों का सम्मान... शहीदों के परिवारों को भी मंच पर बिठाया । शहीद जगदीश वैष्णव की पत्नी कलादेवी, शहीद राजेंद्रसिंह गंठेडी की पत्नी लीलाकंवर, शहीद रामलाल आर्य की पत्नी रमादेवी, शहीद चंदनसिंह दुर्ग की पत्नी, शहीद नटवरसिंह के परिजन मौजूद रहे। यूडीएच मंत्री श्रीचंद कृपलानी ने लोगों को वनों व वृक्षों, वन्यजीवन के प्रतीक नाग, प्राणी मात्र के प्रतीक गंगा, धरती माता, माता-पिता का सम्मान करने की शपथ दिलाई।
    - जौहर की गाथा व फांसी के मंचन ने बढ़ाया जोश और जज्बा... राजपूती परिधान में महिलाओं ने पदमिनी जौहर का जीवंत प्रदर्शन किया। कलाकारों ने आजादी आंदोलन में शहीद भगतसिंह, राजगुरु व सुखदेव की फांसी का दृश्य दिखाया। देशभक्ति के इस कार्यक्रम में कई लोग अलग-अलग अंदाज में पहुंचे। करीब 200 युवा केसरिया साफा व पारंपरिक वेशभूषा में रवाना हुए। पाडनपोल दरवाजे पर रानी पदमिनी को श्रद्वांजलि दी।
    - अल्पाहार वितरण के बाद सफाई से स्वच्छता का संदेश... स्वच्छता व पर्यावरण का भी ध्यान रखा गया। बच्चों को अल्पाहार के लिए बांटे गए पैकेट कागज के रखे गए। पॉलीथिन या डिस्पोजल का उपयोग नहीं किया। स्टेडियम एक तरह से पालीथीन फ्री था। कार्यक्रम के बाद कई बच्चों सहित कार्यकर्ताओं ने कचरा एकत्रित किया। पर्यावरण मित्र बेबी दिव्या जैन ने कहा पर्यावरण और स्वच्छता के बारे में भी सिखने को मिलेगा।
    - मंच पर आसमान से हुई पुष्प वर्षा ... मंच पर कुछ प्रस्तुतियों के दौरान ड्रोन से पुष्पवर्षा कराई। स्टेडियम में पहले सवा दो लाख स्कवायर फीट में व्यवस्था थी। बाद में एक लाख 30 हजार स्कवायर फीट एरिया बढ़ाया। आयोजन समिति के डाॅ. आईएम सेठिया, गोपालकृष्ण चतुर्वेदी, पुष्कर नराणिया, वंदना वजीरानी, एडवोकेट प्रवीण टांक, श्रवणसिंह राव, नगर महामंत्री अनिल ईनाणी, शैलेंद्र झंवर व मोनू सोनी सहित करीब 50 कार्यकर्ता व्यवस्था बनाते रहे।
    आगे की स्लाइड्स में देखें इस खबर से जुड़ीं फोटोज...
  • एक साथ 50 हजार लोगों ने गाया वंदेमातरम, पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का यूज
    +4और स्लाइड देखें
    इंदिरागांधी स्टेडियम में सामूहिक वंदेमातरम गान में जुटे लोग
  • एक साथ 50 हजार लोगों ने गाया वंदेमातरम, पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का यूज
    +4और स्लाइड देखें
  • एक साथ 50 हजार लोगों ने गाया वंदेमातरम, पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का यूज
    +4और स्लाइड देखें
  • एक साथ 50 हजार लोगों ने गाया वंदेमातरम, पहली बार थ्री वे सांउड सिस्टम का यूज
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×