Hindi News »Rajasthan »Udaipur» Vijay Stamp Could Be Closed Forever

खिलजी की हार का प्रतीक है ये विजय स्तंभ, देखने रोज पहुंचते हैं हजारों टूरिस्ट

17 महीने पहले केमिकल वॉश के नाम पर बंद किए गए विजय स्तंभ के अब खुलने के आसार कम ही हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 05, 2017, 06:36 AM IST

  • खिलजी की हार का प्रतीक है ये विजय स्तंभ, देखने रोज पहुंचते हैं हजारों टूरिस्ट
    +3और स्लाइड देखें
    यह स्तम्भ 122 फीट ऊंचा है। जिसमें 157 सीढ़ियां हैं।
    चित्तौड़गढ़. 17 महीने पहले केमिकल वॉश के नाम पर बंद किए गए विजय स्तंभ के अब खुलने के आसार कम ही हैं। चित्तौड़गढ़ दुर्ग के विकास पर शुक्रवार को हुई बैठक में पुरातत्व विभाग के अफसरों ने खुलासा किया कि स्तंभ को बंद रखने के पीछे सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट की एक रिपोर्ट है। इसके मुताबिक, स्तंभ की सीढ़ियों पर रोज औसतन डेढ़ हजार पर्यटक चढ़ते-उतरते हैं। इससे फिसलन हो गई है। दरारें बढ़ने व सीढ़ियों पर फिसलन से विजयस्तंभ को बंद करना जरूरी है। भारतीय स्थापत्य का नायाब नमूना है ये स्तंभ...
    - चित्तौड़गढ का किला भारत के सभी किलों में सबसे बड़ा माना जाता है। इसे 1448 में मेवाड़ केक राजा राणा कुम्भा ने बनवाया था। यह 700 एकड़ में फैला हुआ है। यह जमीन से 180 मीटर की ऊंचाई पर पहाड़ पर बना हुआ है।
    - इससे जुड़ा मिथ यह है कि मिथ है कि पांडव के भाई भीम ने इसका निर्माण किया था।
    - सन् 1303 में इस किले पर अलाउद्दीन खिलजी ने अपना साम्राज्य स्थापित किया। सन् 1540 में प्रताप का जन्म हुआ, उसी समय महाराणा उदयसिंह ने खोए चित्तौड़ को जीता। इस जीत के साथ ही किले में विजय स्तंभ की स्थापना की गई।
    - यह स्तम्भ 122 फीट ऊंचा है। जिसमें 157 सीढ़ियां हैं। 9 मंजिला ये स्तंभ भारतीय स्थापत्य का नायाब नमूना है।
    आगे की स्लाइड्स में देखें विजय स्तंभ की फोटोज...
  • खिलजी की हार का प्रतीक है ये विजय स्तंभ, देखने रोज पहुंचते हैं हजारों टूरिस्ट
    +3और स्लाइड देखें
    9 मंजिला ये स्तंभ भारतीय स्थापत्य का नायाब नमूना है।
  • खिलजी की हार का प्रतीक है ये विजय स्तंभ, देखने रोज पहुंचते हैं हजारों टूरिस्ट
    +3और स्लाइड देखें
    स्तंभ की सीढ़ियों पर रोज औसतन डेढ़ हजार पर्यटक चढ़ते-उतरते हैं।
  • खिलजी की हार का प्रतीक है ये विजय स्तंभ, देखने रोज पहुंचते हैं हजारों टूरिस्ट
    +3और स्लाइड देखें
    17 महीने पहले केमिकल वॉश के नाम पर बंद किए गए विजय स्तंभ के अब खुलने के आसार कम ही हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×