• Home
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur - एसीबी तीन साल में भी नहीं कर पाई रिश्वत के आरोपी अशोक सिंघवी की संपत्ति का वैल्यूएशन
--Advertisement--

एसीबी तीन साल में भी नहीं कर पाई रिश्वत के आरोपी अशोक सिंघवी की संपत्ति का वैल्यूएशन

छह दिन बाद खान घूसकांड प्रकरण को तीन साल होने वाले हैं, लेकिन भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) अभी तक यह तय नहीं कर...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 07:20 AM IST
छह दिन बाद खान घूसकांड प्रकरण को तीन साल होने वाले हैं, लेकिन भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) अभी तक यह तय नहीं कर पाई है कि 2.50 करोड़ रुपए की रिश्वत के आरोपी अशोक सिंघवी की संपत्ति आय से कितनी गुना ज्यादा थी। एसीबी के अफसर पिछले 36 माह में सिंघवी की संपत्तियों का वैल्यूएशन तक नहीं कर पाए। ट्रेप की कार्रवाई के बाद एसीबी ने आय से अधिक संपत्ति होने की एक प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया था। पिछले तीन साल से इस मामले में अफसर खानापूर्ति ही कर रहे हैं। एसीबी की तलाशी में सिंघवी के घर और बैंक लॉकरों में करोड़ों रुपए की जमीनों के दस्तावेज और सोने-चांदी के जेवर मिले थे। अभी तक इन संपत्तियों का वैल्यूएशन ही नहीं हो पाना एसीबी की कार्यशैली पर सवाल खड़े करता है। सूत्रों का कहना है कि एसीबी इस जांच को बंद कर सिंघवी को इस मामले में क्लीनचिट देने की तैयारी में है। फिलहाल यह जांच एडिशनल एसपी आलोक सिंघल के पास है। काबिलेगौर है कि एसीबी ने 16 सितंबर 2015 को खनन व्यवसायी से खान वापस चालू करने की एवज में 2.50 करोड़ रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में खान विभाग के तत्कालीन प्रमुख सचिव अशोक सिंघवी, एडिशनल डायरेक्टर पंकज गहलोत, इंजीनियर पुष्कर राज अमेठा, दलाल संजय सेठी, खान मालिक शेर खान और उसके सीए श्याम सिंह व रशीद खान को गिरफ्तार किया था। एसीबी के अफसरों ने ट्रेप की कार्रवाई के बाद सिंघवी के घर व बैंक की तलाशी ली थी।

घर से 35 किलो चांदी और 25 तोला सोने के जेवर मिले थे

घर और लाकर से 35 किलोग्राम चांदी, 25 तोला सोना और 2.50 लाख रुपए की नगदी, लॉकर में एक रिवाल्वर के अलावा सोने चांदी के जेवर, चांदी के बर्तन, लाखों रुपए के डायमंड सेट और सोने के सिक्के मिले थे। एसीबी ने इनकी एक ज्वैलर को बुलाकर बाजार मूल्य का आंकलन कराया था। आभूषणों की कीमत 3 करोड़ रुपए से ज्यादा बताई गई। इसके अलावा करोड़ों रुपए की जमीन व भूखंडों के दस्तावेज भी मिले थे। एसीबी को एमआई रोड़ स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक व ऑरियन्टल बैंक के लॉकरों की तलाशी में रोलेक्स कंपनी की सोने की घड़ी मिली, जिसकी कीमत करीब सात लाख रुपए थी। इ

ये मिला था लॉकरों में




एसीबी के डीजी आलोक त्रिपाठी से सवाल-जवाब

सवाल : रिश्वत के आरोपी आईएएस सिंघवी के खिलाफ क्या आय से अधिक संपत्ति की जांच को बंद कर दिया?

जवाब: जांच बंद नहीं की है। अभी अनुसंधान किया जा रहा है।

सवाल: तीन साल में अभी तक उनकी संपत्ति का ही वैल्यूएशन नहीं कर पाने का क्या कारण है?

जवाब: आईओ के पास और भी काम रहते है।

सवाल: क्या सिंघवी से जब्त की गई संपत्तियों के दस्तावेजों, नगदी व ज्वैलरी के संबंध में जवाब मांगा?

जवाब: इस बारे में सिंघवी से जवाब मांगा था। उन्होंने दस्तावेज भी उपलब्ध कराए है। उनकी तस्दीक की जाएगी और डीए केस की जांच में थोड़ा समय लगता है। हमारी कोशिश है कि जल्द से पूरा करें।