--Advertisement--

चित्तौड़गढ़ / घर में गैस टंकी रिफिलिंग का अवैध कारोबार पकड़ा, 40 गैस टंकियां और उपकरण जब्त



चंदेरिया क्षेत्र में एक मकान में गैस रिफिलिंग करते हुए जब्त सिलेंडर, उपकरण। चंदेरिया क्षेत्र में एक मकान में गैस रिफिलिंग करते हुए जब्त सिलेंडर, उपकरण।
  • रिहायशी इलाके के एक मकान में चल रहा था गैस टंकी रिफिलिंग करने का कारोबार
Danik Bhaskar | Sep 16, 2018, 10:28 AM IST

चित्तौड़गढ़. उपनगरीय क्षेत्र चंदेरिया की घनी आबादी में रसद विभाग की टीम ने शनिवार को एक मकान के अंदर चल रहे गैस रिफिलिंग के अवैध कारोबार का पर्दाफाश कर मौके से 41 सिलेंडर सहित कारों में गैस भरने के उपकरण जब्त किए। लंबे समय बाद हुई रसद विभाग की इस कार्रवाई से अवैध गैस कारोबार में लिप्त लोगों में हड़कंप मच गया।

घरेलू गैस की 31 टंकियां मिली

  1. ग्राहक बनकर पहुंची टीम

    चंदेरिया के शीतला चौक में टीम ने मकान पर पहुंच कर अपनी कार में गैस भरने की मंशा व्यक्त की। उस समय घर पर एक महिला बाहर आई। उसने टीम के सदस्य को कहा कि उसके पति घर पर नहीं है पर कार में गैस भरनी ह तो वह स्वयं भर देगी। इस बात की पुष्टि होते ही टीम ने घर के अंदर जाकर देखा तो गैस टंकियों का जखीरा मिल गया।

  2. जरा सी चिंगारी भी कर देती तबाह

    प्रारंभिक जांच में रिफिलिंग का यह कारोबार चंदेरिया की सबसे घनी बस्ती वाले क्षेत्र में तंग गलियों में था। क्षेत्र में 20 हजार से अधिक लोग रहते हैं। अगर रिफिलिंग के दौरान लीक होने वाली गैस को चिंगारी मिल जाती तो क्षेत्र तबाह होने में ज्यादा समय नहीं लगता। तंग गलियों के कारण वहां फायर ब्रिगेड को पहुंचने में देर लगती। आधा किलोमीटर तक का क्षेत्र तबाह हो जाता।

  3. बड़ी से छोटी व कारों में होती थी रिफिलिंग

    मौके पर स्थित कमरे में बड़ी गैस टंकियों के साथ छोटी टंकियां भी मिली। गैस 5 किलो के सिलेंडर में भरी जाती है। इसके अलावा मौके पर घरेलू गैस टंकियां भी बरामद हुई। इससे लगता है कि गैस एजेंसियों से भी गृह स्वामी का संपर्क था। एक गैस टंकी रिफिलिंग करने पर 50 से 100 रुपए मिलते थे। प्रथम दृष्टया सामने आया कि दिनेश घर के कनेक्शन वाली टंकियों सहित मिलने वालों की गैस डायरियां भी रखता था। एक टंकी पर 50 से100 रुपए ज्यादा लेकर लोगों को गैस टंकी सप्लाई करने का काम भी करता था।