• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur स्पर्धाएं कराई नहीं, कागजों में चुनी टीम खेल गई जिले पर
--Advertisement--

स्पर्धाएं कराई नहीं, कागजों में चुनी टीम खेल गई जिले पर

Dainik Bhaskar

Sep 07, 2018, 07:11 AM IST

Udaipur News - कुराबड़ ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय ने कागजों में ही बच्चों की प्रतियोगिताएं करा दी और टीम जिला स्तरीय...

Udaipur - स्पर्धाएं कराई नहीं, कागजों में चुनी टीम खेल गई जिले पर
कुराबड़ ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय ने कागजों में ही बच्चों की प्रतियोगिताएं करा दी और टीम जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भी भेज दी। इसकी खबर न तो शिक्षा अधिकारियों को है, न जिम्मेदार खेल प्रभारियों को। यह सब भी इस तरह किया ताकि यह लगे कि वाकई प्रतियोगिता कराई गई हो। दरअसल, प्रतियोगिता का आयोजन 30 अगस्त से 1 सितम्बर करना तय किया गया और इसके लिए जगह देबारी स्थित राउप्रावि, नलाफला को चुना गया। यहां कबड‌्डी, खो-खो और वालीबॉल प्रतियोगिताएं करवानी थीं, जिसके लिए 23 शिक्षकों की ड्यूटी भी लगाई गई। लेकिन नला फला स्कूल में ऐसा कुछ नहीं हुआ और नलाफला स्कूल के एक कमरे में प्रतिभागी छात्रों की पात्रता सूची बना ली गई। यही टीमें जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भेज भी दी। नियमानुसार अगर किसी ब्लॉक ने अपने यहां प्रतियोगिताएं नहीं कराई, तो वह जिले में अपने ब्लॉक की टीम नहीं भेज सकता। लेकिन अब बड़ा सवाल यह है कि जब बच्चे खेले ही नहीं, तो किस आधार पर उनका चयन किया गया।

इन टीमों का किया चयन

कबड्‌डी डेडरों की ढाणी स्कूल

खो-खो लाडिया खेड़ा स्कूल

वालीबॉल मायदा स्कूल

ब्लॉक बिना खिलाए टीम जिला स्तरीय में नहीं भेज सकते

डीईओ प्रारंभिक में खेल प्रभारी शंभूसिंह ने बताया कि किसी ब्लॉक ने प्रतियोगिताएं नहीं कराई तो वह जिले में टीम नहीं भेज सकता। अगर टीम भेजी गई तो वह गलत है। हमने सभी ब्लॉक को प्रतियोगिता कराने के लिए कहा था।

बिना खिलाए चयन करके टीम भेजनी पड़ती है : एबीईईओ

एबीईईओ जयंतीलाल चौबीसा बोले, बजट की व्यवस्था नहीं हो पाई, इसलिए ब्लाॅक की प्रतियोगिता नहीं कराई। बच्चों को बिना खिलाए चयन करके उसी रूप में जिला स्तर पर टीम भेजनी पड़ती है।

प्रतियोगिता में जिनकी ड्यूटी थी, उन्होंने यह कहा


सही कौन

ब्लॉक बिना खिलाए टीम जिला स्तरीय में नहीं भेज सकते

डीईओ प्रारंभिक में खेल प्रभारी शंभूसिंह ने बताया कि किसी ब्लॉक ने प्रतियोगिताएं नहीं कराई तो वह जिले में टीम नहीं भेज सकता। अगर टीम भेजी गई तो वह गलत है। हमने सभी ब्लॉक को प्रतियोगिता कराने के लिए कहा था।

बिना खिलाए चयन करके टीम भेजनी पड़ती है : एबीईईओ

एबीईईओ जयंतीलाल चौबीसा बोले, बजट की व्यवस्था नहीं हो पाई, इसलिए ब्लाॅक की प्रतियोगिता नहीं कराई। बच्चों को बिना खिलाए चयन करके उसी रूप में जिला स्तर पर टीम भेजनी पड़ती है।

प्रतियोगिता से जुड़ी जानकारी नहीं : प्रधानाध्यापक : राउप्रावि नलाफला के प्रधानाध्यापक विनोद कुमार बोले, प्रतियोगिता से संबंधित जानकारी नहीं है। मैंने एबीईईओ के आदेश पर स्कूल में एक रूम दिया था, जिसमें शिक्षकों ने छात्रों की पात्रता सूची बनाई।

X
Udaipur - स्पर्धाएं कराई नहीं, कागजों में चुनी टीम खेल गई जिले पर
Astrology

Recommended

Click to listen..