Home | Rajasthan | Udaipur | Four family members died in road accident in Jahajpur Bhilwara

बोलेरो-ट्रेलर से भिड़ी, एक ही परिवार के 4 की मौत; हादसे के बाद शव जीप में फंस गए

108 एंबुलेंस व पुलिस देरी से पहुंची तो परिजन और ग्रामीण आक्रोशित हो गए।

Bhaskar News| Last Modified - May 12, 2018, 06:22 AM IST

Four family members died in road accident in Jahajpur Bhilwara
बोलेरो-ट्रेलर से भिड़ी, एक ही परिवार के 4 की मौत; हादसे के बाद शव जीप में फंस गए

भीलवाड़ा(राजस्थान). मांडलगढ़ मार्ग पर भवानीपुरा के पास शुक्रवार को बाइक सवार को बचाने के चक्कर में ट्रेलर और बोलेरो में आमने-सामने भिड़ंत हो गई। भिड़ंत पर तेज धमाका हुआ। बोलेरो पिचक गई और हाईवे से उतर गई। जब लोगों को हादसे का पता चला तो वे मौके पर पहुंचे। कुछ देर बाद ही मौके पर भीड़ जमा हो गई। हादसे के बाद कुछ देर के लिए जाम लग गया। लोगों ने बोलेरो में दबे शव निकाले। हादसे में पीपलूंद निवासी तेली परिवार के चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। एक बालिका सहित बाइक सवार दंपती घायल हो गया।  

 

एंबुलेंस व पुलिस देरी से पहुंची तो परिजन व ग्रामीण आक्रोशित हो गए

पीपलूंद का रहने वाला परिवार नावण कार्यक्रम के लिए कपड़ों की खरीदारी के लिए बोलेरो से जहाजपुर जा रहा था। हादसे में घायल दंपती को वहां से निकल रही जिला परिषद सदस्य सरोजना मीणा व पति रमेश मीणा ने अपनी वैन से अस्पताल पहुंचाया। 108 एंबुलेंस व पुलिस देरी से पहुंची तो परिजन व ग्रामीण आक्रोशित हो गए। अाला पुलिस अफसर और टीआई पन्ना लाल जांगिड़ फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिसकर्मियों ने शव अस्पताल पहुंचाए। हादसे के बाद चालक ट्रेलर छोड़कर भाग निकला। 

 

पति-पत्नी और बेटे समेत ससुर की मौत

पुलिस के मुताबिक, हादसे में पीपलूंद निवासी त्रिलोकचंद, उसकी पत्नी दुर्गा देवी तेली, बेटा अभिषेक और ससुर भूरा लाल तेली की मौत हो गई। वहीं, त्रिलोक के साले की बेटी कोमल, बेटी नंदा तेली और बाइक सवार देवराज गुर्जर और पत्नी सोना गुर्जर घायल हो गए। जिनका अस्पताल में प्राथमिक उपचार कराकर रैफर किया गया।

 

चारों मृतकों का पीपलूंद में दाह संस्कार, बेटी शालिनी भी पहुंची श्मशान

हादसे के बाद पीपलूंद गांव में चारों मृतकों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। त्रिलोकचंद तेली की बेटी शालिनी को जब हादसे का पता चला तो वह भी श्मशान पहुंच गई। अंतिम संस्कार में शामिल हुई। शालिनी दादी के पास ही घर रुक गई थी।

 

त्रिलोकचंद की बेटी को दादी ने घर पर ही रोक लिया था

त्रिलोक चंद तेली गांव में मातेश्वरी गैस एजेंसी के नाम से कनेक्शन देता था। अब उसके परिवार में बेटी शिवानी और दादी रत्नी देवी है। शिवानी भी कपड़े लेने के लिए परिवार के साथ में जाने वाली थी, लेकिन दादी रत्नी देवी ने उसे रोक लिया। 

 

prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now