--Advertisement--

विश्वविद्यालयों की तर्ज पर अब नए सिरे से तय होगी स्कूलों की ग्रेडिंग

Udaipur News - माध्यमिक शिक्षा निदेशालय एक बार फिर नए सिरे से विश्वविद्यालयों की तर्ज पर प्रदेश के सरकारी सैकंडरी और सीनियर...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:20 AM IST
Udaipur News - grounding of schools will now be renewed on the lines of universities
माध्यमिक शिक्षा निदेशालय एक बार फिर नए सिरे से विश्वविद्यालयों की तर्ज पर प्रदेश के सरकारी सैकंडरी और सीनियर सैकंडरी स्कूलों की ग्रेडिंग तय करेगा। इन स्कूलों को ए, बी, सी और डी श्रेणी दी जाएगी। सी और डी ग्रेड वाले स्कूलों पर विशेष फोकस रहेगा। इन स्कूलों में गुणवत्ता सुधार के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी मॉनिटरिंग करेंगे। ये पता लगाया जाएगा कि विभाग की तरफ से अगर सभी सुविधाएं प्रदान की गई थी, तो इसके बावजूद ये स्कूल ए ग्रेड श्रेणी से कैसे पिछड़ गया। इसके लिए विभाग प्रशासनिक अधिकारियों के साथ विशेष कार्ययोजना तैयार करेगा। संस्था प्रधान को स्कूल के नाम के साथ अपनी ग्रेड भी लिखनी हाेगी। निरीक्षण करने वाले अधिकारी ग्रेडिंग के आधार पर स्कूलों को जांचेंगे। डीईओ माध्यमिक नरेश डांगी ने बताया कि सभी स्कूलों के संस्था प्रधानों को निर्देश दिए हैं, कि वे अपने स्कूलों में सुविधाएं विकसित करें जाे स्कूल सी या डी श्रेणी में होगा, उससे कारण पूछा जाएगा।

725 स्कूल हैं जिले में

जिले में माध्यमिक सेटअप के करीब 725 सरकारी सैकंडरी और सीनियर सैकंडरी स्कूल हैं। इनमें जिले की सभी 544 ग्राम पंचायत पर आदर्श और उत्कृष्ट श्रेणी के स्कूल संचालित हैं।

ये हैं ग्रेडिंग के मापदंड : इनकी ग्रेडिंग के सात मापदंड तय किए गए हैं। इन स्कूलों में कक्षा कक्ष की स्थिति। छात्र-छात्राओं के लिए अलग-अलग टॉयलेट, बिजली, पानी और इंटरनेट की व्यवस्था होना। इसके अलावा कम्प्यूटर में छात्रों का ज्ञान, मैदान की स्थिति और परीक्षा परिणाम के आधार पर ग्रेडिंग दी जाएगी।

स्कूल प्रशासन और बच्चों में बढ़ेगी जागरूकता

इस प्रकार बदले गए ग्रेडिंग सिस्टम के कारण स्कूल प्रशासन में तो जागरूकता आएगी ही, साथ ही बच्चों में भी अपनी स्कूल को आगे ले जाने काे लेकर रूचि बढ़ेगी। विद्यालय प्रशासन जहां अपनी ओर से प्रयासों का स्तर बढ़ाएगा, वहीं बच्चे शिक्षा व अन्य कार्य जो उनके द्वारा किए जा सकें, उनमें अपनी भागीदारी बढ़ाएंगे। इस कारण बदले हुए ग्रेडिंग सिस्टम से स्कूल और बच्चों दोनों को फायदा होने की उम्मीद है। साथ ही शिक्षा स्तर में भी सुधार देखने को मिल सकता है।

X
Udaipur News - grounding of schools will now be renewed on the lines of universities
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..