• Home
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur - संभाग में कांस्टेबल से हेडकांस्टेबल के 700 पद पर होंगे स्क्रीनिंग प्रमोशन
--Advertisement--

संभाग में कांस्टेबल से हेडकांस्टेबल के 700 पद पर होंगे स्क्रीनिंग प्रमोशन

पुलिस विभाग में लंबे समय से पदोन्नति का इंतजार कर रहे कांस्टेबलों के लिए अच्छी खबर है। संभाग के छह जिलों में 700...

Danik Bhaskar | Sep 09, 2018, 07:15 AM IST
पुलिस विभाग में लंबे समय से पदोन्नति का इंतजार कर रहे कांस्टेबलों के लिए अच्छी खबर है। संभाग के छह जिलों में 700 पुलिसकर्मियों को बिना परीक्षा दिए स्क्रीनिंग के जरिए पदोन्नति मिल सकेगी। इसके लिए विभाग ने 18 वर्ष की सेवा पूरी करने वाले कांस्टेबलों से आवेदन मांगे हैं। आईजी-मुख्यालय संजीव कुमार नार्जरी ने राज्य के सभी जिलों में पत्र जारी कर इसकी प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिए हैं। राजस्थान में वर्ष 2018-19 की 6 हजार पदों पर कांस्टेबल से हैडकांस्टेबल पदोन्नतियां होगी। उदयपुर में 290, बांसवाड़ा में 80, चित्तौड़गढ़ में 140, डूंगरपुर में 65, राजसमंद में 90 और प्रतापगढ़ में 65 पदों पर स्क्रीनिंग के जरिए पदोन्नति दी जाएगी। वे कांस्टेबल आवेदन कर सकेंगे, जिन्होंने 1 अप्रैल, 2018 तक पुलिस सेवा के 18 वर्ष पूरे कर लिए हों। स्क्रीनिंग के जरिए कांस्टेबलों का रिकॉर्ड देखा जाएगा। बेदाग कांस्टेबलों के रिकॉर्ड और वरिष्ठता के आधार पर सीधे प्रमोशन देंगे और किसी परीक्षा से नहीं गुजरना पड़ेगा।

पुराने वर्ष की पदोन्नति में भी ले सकेंगे हिस्सा

उदयपुर में अभी वर्ष 2016-17 और 2017-18 की कांस्टेबल से हेडकांस्टेबल पदोन्नति परीक्षा भी होनी है। स्क्रीनिंग के जरिए 2018-19 वर्ष की पदोन्नतियां होंगी। सरकार अभी स्क्रीनिंग के जरिए पदोन्नति देने पर जोर दे रही है। ऐसे में आदेश में यह भी स्पष्ट किया है कि 2018-19 में पदोन्नति पाने वाले वरिष्ठ कांस्टेबल हेडकांस्टेबल बनने के बाद भी वर्ष 2016-17 और 2017-18 की पदोन्नति परीक्षा में हिस्सा ले सकेंगे और वे यदि इन पदोन्नति परीक्षा को पास कर लेंगे तो उन्हें चयनित वर्ष की वरिष्ठता का लाभ दिया जाएगा।

टीएसपी और नॉन-टीएसपी दो कैडर में होंगी पदोन्नतियां

जवानों की पदोन्नतियां टीएसपी और नॉन-टीएसपी कैडर में होंगी। इससे उन जवानों को भी राहत मिलेगी, जो नॉन टीएसपी क्षेत्र में हैं और टीएसपी क्षेत्र के अपने जिले में लौटना, वहां पदोन्नति चाहते हैं। उदयपुर का करीब 65 फीसदी हिस्सा, चित्तौड़गढ़ आंशिक और डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़ पूर्ण टीएसपी है। पुलिस मुख्यालय ने पत्र जारी कर सभी जिलों में कार्यरत ऐसे जवानों के आवेदन मांगे हैं, जो टीएसपी क्षेत्र के मूल निवासी और नॉन टीएसपी क्षेत्र में कार्यरत हैं। आवेदन के अनुरूप स्थानांतरण और इसके बाद पदोन्नतियां होंगी। टीएसपी क्षेत्र में स्थानांतरण व पदोन्नति के बाद जवान का तबादला टीएसपी क्षेत्र में ही होगा। आईजी विशाल बंसल ने बताया कि पिछले काफी समय से जवानों की पदोन्नतियां अटकी हुई थीं, जो अब हो सकेंगी। इसकी प्रक्रिया पूरी चल रही है। उदयपुर संभाग में पुलिस विभाग के टीएसपी और नॉन टीएसपी दो कैडर होंगे और इनके अनुसार ही जवानों की पदोन्नतियां होंगी। इस संबंध में सरकार स्तर से स्वीकृति मिल चुकी है।