दर्दनाक / एक साथ जली 7 चिताएं, इतनी अर्थियां देख सहम उठा पूरा गांव

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2019, 02:27 PM IST



सात लोगों का एक साथ हुआ अंतिम संस्कार। सात लोगों का एक साथ हुआ अंतिम संस्कार।
पूरा गांव का माहौल गमगीन हो गया। पूरा गांव का माहौल गमगीन हो गया।
परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल।
Last right of seven bodies died in road accident near pratapgarh
Last right of seven bodies died in road accident near pratapgarh
X
सात लोगों का एक साथ हुआ अंतिम संस्कार।सात लोगों का एक साथ हुआ अंतिम संस्कार।
पूरा गांव का माहौल गमगीन हो गया।पूरा गांव का माहौल गमगीन हो गया।
परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल।परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल।
Last right of seven bodies died in road accident near pratapgarh
Last right of seven bodies died in road accident near pratapgarh

विवेक उपाध्याय. प्रतापगढ़. छोटी सादड़ी उपखंड मुख्यालय से महज सात किलोमीटर दूर स्तिथ रामदेवजी गांव में सोमवार रात को गांव में दुल्हन की बिंदोली में बेकाबू ट्रक ने रोंद दिया था। जिसमें कुल 9 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी। इसके साथ ही 25 लोग गंभीर घायल हो गए थे। जिन्हे छोटीसादड़ी अस्पताल से उदयपुर के लिए रैफर किया गया था। इस सड़क हादसे में रामदेवजी गांव के सात लोगों की मौत के बाद मातम पसरा हुआ है। मंगलवार दोपहर सातों का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया। इस दौरान पूरा गांव का माहौल गमगीन हो गया है। 

 

ग्रामीणों ने बताया कि जैसे ही हादसे की सूचना मिली गांव में हर व्यक्ति की आंख नम हो गई। हमारे गांव के लिए यह बेहद दुखद घटना है। लोगों के घरों में चूल्हे तक नहीं जले हैं। एक साथ सात अर्थियां देख हर कोई सहम उठा। पूरे गांव में शोक का माहौल है। किसी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं।

 

पीएम मोदी ने किया ट्वीट

 

 

 

कैसे हुआ हादसा

 

एसपी अनिल कुमार बेनिवाल के मुताबिक, हादसा थाना क्षेत्र छोटीसादड़ी से सात किलोमीटर दूर रामदेवजी के पास हुआ। गाड़ोलिया लोहार समाज के लोग लड़की को घोड़ी पर बैठाकर बिंदाेली (वधू पक्ष का कार्यक्रम) निकाल रहे थे। तभी ट्रक ने उन्हें कुचल दिया। हादसे के बाद ट्रक चालक फरार हो गया। 

 

परिजन बोले- हम हाईवे पर एक तरफ चल रहे थे

 

एमबी अस्पताल में अपने पिता का इलाज करा रहे हरिराम ने बताया कि बिंदोली में 100 से 150 लोग थे। गाड़ियां आसानी से निकल सकें, इसलिए हम हाईवे पर एक तरफ ही चल रहे थे। तभी पीछे से तेज रफ्तार ट्रक आया और लोगों को कुचलता हुआ चला गया। हरीराम के पिता गंभीर घायल हैं, वे फिलहाल एमबी अस्पताल में वेंटीलेटर पर है। 15 साल की रंजना की हालत भी गंभीर बताई जा रही है।

COMMENT