• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
--Advertisement--

तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद

सायों का खेड़ा से कालिंजर तक तीन किलोमीटर की सड़क को पक्की बनवाने के लिए ग्रामीण कई वर्षों से मांग कर रहे है। लेकिन...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
सायों का खेड़ा से कालिंजर तक तीन किलोमीटर की सड़क को पक्की बनवाने के लिए ग्रामीण कई वर्षों से मांग कर रहे है। लेकिन उनकी यह मांग अब तक पूरी नहीं हुई। बताया कि सायों का खेड़ा से कालिंजर की मात्र तीन किलोमीटर की सड़क को पक्की बनवाने के लिए ग्रामीणों ने लिखित और मोखिक तौर पर कई बार जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को समस्या बताई, लेकिन कोई हल नहीं निकला। विधानसभा चुनावों में भी कई बार जनप्रतिनिधियों को बताया, लेकिन वो कहते हैं हमें वोट देना सड़क को पक्की बनवा देंगे। जनप्रतिनिधियों के ये वादे भी झूठे ही साबित हो रहे है। मार्ग पर रोडवेज बस का संचालन भी होता था, लेकिन पथरीली और उबड़ खाबड़ सड़क होने से बसें भी कुछ ही दिनों में खटारा हो जाती हैं। इससे अब इस रुट पर बसों का संचालन भी बंद हो गया। तीन किलोमीटर की सड़क से एक दर्जन से भी अधिक गांवों का जुड़ाव है। इसमें मादरेचों का गुड़ा, उदाजी की भागल, कक्खाजी की भागल, नोहरा, कालिंजर, धूणी की भागल, डामरिया, भीलों का खेत, सुथारों की भागल, वोला सहित दर्जनभर गांवों का संपर्क इस मार्ग से है।

रोडवेज बस भी बंद : इस मार्ग पर पहले रोडवेज बस का संचालन होता था, जो सायो का खेड़ा से कालिंजर होते हुए कोयल, गजपुर, बड़गांव से केलवाड़ा जाती थी। इससे इस मार्ग से जुड़े गांवों के लोगों को आने-जाने की सुविधा मिल जाती थी। लेकिन कच्ची सड़क होने से बसें भी खटारा होकर खराब हो गई। इस कारण बसों का संचालन भी बंद हो गया। अब ग्रामीणों को पैदल चलकर ही कोयल या सांयो का खेड़ा जाना पड़ता है। इससे मरीजों को भी परेशान होना पड़ता है।

टैक्सी वाले लेते हैं मनमाना किराया : इन गांवों में बसें लोगों के बीमार परिजनों को अस्पताल ले जाना पड़े तो कोई भी टैक्सी वाला इस मार्ग से आने से मना कर देते हैं। अगर आते हैं तो मनमाना किराया लेते है।

सायों का खेड़ा से कालिंजर सहित एक दर्जन गांवों को जोड़ने वाली कच्ची सड़क।

लोग बोले-विभाग नहीं दे रहा ध्यान






तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
X
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
तीन किमी सड़क को पक्की बनवाने के लिए लोग वर्षों से कर रहे मांग, सरकारी बसें हुई बंद
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..