उदयपुर

  • Home
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • 1.80 लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार सेटलमेंट ऑफिस के बाबू और दलाल के खिलाफ कोर्ट में चालान
--Advertisement--

1.80 लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार सेटलमेंट ऑफिस के बाबू और दलाल के खिलाफ कोर्ट में चालान

उदयपुर | मेवाड़ रियासत काल में बने मकान का पट्टा, नक्शा और दस्तावेजों की प्रमाणित कॉपियां देने के बदले एक लाख 80 हजार...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 06:25 AM IST
उदयपुर | मेवाड़ रियासत काल में बने मकान का पट्टा, नक्शा और दस्तावेजों की प्रमाणित कॉपियां देने के बदले एक लाख 80 हजार रुपए की घूस लेते रंगे हाथ दबोचे गए अभिलेखागार के बाबू और उसके दलाल के खिलाफ एसीबी की स्पेशल यूनिट ने सोमवार को भ्रष्टाचार निवारण मामलों के सेशन न्यायालय में चार्जशीट दाखिल कराई। एसीबी स्पेशल यूनिट के एएसपी सुरेंद्र सिंह भाटी ने अभियाेजन निदेशक गणेश शंकर तिवारी के जरिए चार्जशीट दाखिल कराई।

एसीबी-एसयू ने 20 फरवरी 2016 को नेहरू हॉस्टल के एक भाग में चल रहे राज्य सरकार का अभिलेखागार (सेटलमेंट ऑफिस) में दबिश देकर कनिष्ठ लिपिक सेक्टर 4 के विद्यानगर निवासी मोहनलाल पुत्र हजारी लाल मूंदड़ा को गिरफ्तार किया था। मूंदड़ा के दलाल जगदीश चौक स्थित पांडे जी की गली निवासी लक्ष्मी लाल पुत्र नारायण लाल सोनी काे भी गिरफ्तार किया गया। एसीबी ने रिश्वत की राशि के एक लाख 80 हजार के नोट जब्त किए थे। मूंदड़ा के खिलाफ रिश्वत मांगने की रिपोर्ट सेक्टर 4 की एकलिंगनाथ काॅलोनी निवासी भगवान लाल सोनी ने की थी।

प्रार्थी का पुराने शहर की सिंघवाड़ियों की सेहरी (बड़ा बाजार) में पैतृक मकान है, जिसके नीचे दुकान है। उसका विवाद जगदीश सोनी व रामचंद्र सोनी से चल रहा है। इस विवाद का मुकदमा घंटाघर थाने में दर्ज है और सुनवाई एडीजे-4 न्यायालय में चल रही है। मकान का सिगह खालसा का पट्टा, नक्शा और अन्य दस्तावेजाें की जरूरत होने से सेटलमेंट आॅफिस में अर्जी लगाई गई थी। लिपिक मूंदड़ा के दलाल लक्ष्मी लाल ने दस्तावेज उपलब्ध कराने के बदले दो लाख रुपए मांगे थे।

रियासत काल में बने मकान के दस्तावेज देने के बदले मांंगी थी घूस

Click to listen..