Hindi News »Rajasthan »Udaipur» काॅलेज-यूनिवर्सिटी में यूजी के लिए चॉइस बदली, कॉमर्स का क्रेज हुआ खत्म, साइंस-मैथ्स में दिलचस्पी बरकरार

काॅलेज-यूनिवर्सिटी में यूजी के लिए चॉइस बदली, कॉमर्स का क्रेज हुआ खत्म, साइंस-मैथ्स में दिलचस्पी बरकरार

उदयपुर | उदयपुर सहित प्रदेश की यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में यूजी प्रवेश प्रक्रिया अंतिम चरण में है। कुछ कॉलेजों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 03, 2018, 06:45 AM IST

काॅलेज-यूनिवर्सिटी में यूजी के लिए चॉइस बदली, कॉमर्स का क्रेज हुआ खत्म, साइंस-मैथ्स में दिलचस्पी बरकरार
उदयपुर | उदयपुर सहित प्रदेश की यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में यूजी प्रवेश प्रक्रिया अंतिम चरण में है। कुछ कॉलेजों में प्रक्रिया पूरी हो चुकी है, वहीं कुछ जगह प्रोसेस चल रही है। उदयपुर के सरकारी कॉलेजों में आगामी सत्र को लेकर ट्रेंड में बदलाव देखने को मिला है। उदयपुर में अमूमन कॉमर्स को लेकर नए छात्र-छात्राओं में भारी क्रेज रहता है, लेकिन इस वर्ष कॉमर्स में 12वीं पास कर आए नए छात्रों का रुझान सबसे कम रहा है। यूनिवर्सिटी के चार कॉलेज और मीरा गर्ल्स कॉलेज में इस वर्ष तय सीटों के मुकाबले आए आवेदनों पर नजर डालने पर सामने आया कि छात्रों का कॉमर्स के प्रति दिलचस्पी कम हुई है। इस वर्ष के एजुकेशनल ट्रेंड में जहां एमजी कॉलेज में कॉमर्स की सीटों जितने भी आवेदन नहीं आए, वहीं कॉमर्स के गढ़ कहे जाने वाले कॉमर्स कॉलेज में सीटों के मुकाबले सिर्फ 1.6 गुना आवेदन आए हैं। यह आर्ट्स, साइंस और लॉ सहित अन्य स्ट्रीम के लिए आए आवेदनों के मुकाबले काफी कम है।

काॅमर्स से डायवर्ट हो आर्ट्स स्ट्रीम में जा रहे छात्र, एमजी काॅलेज में जितनी सीटें, उतने भी आवेदन नहीं आए कॉमर्स में, इंटीग्रेटेड कोर्सेज के लिए बीए-एलएलबी के प्रति रुझान ज्यादा

बीकॉम-एलएलबी के मुकाबले बीए-एलएलबी का क्रेज ज्यादा

सुखाड़िया में इस वर्ष लॉ के इंटीग्रेटेड कोर्सेज को लेकर भी ट्रेंड सामने आया है। बीकॉम-एलएलबी के मुकाबले बीए-एलएलबी के लिए छात्रों का क्रेज ज्यादा है। बीकाॅम एलएलबी में 60 सीटों के लिए 113 आवेदन आए हैं। वहीं दूसरी ओर बीए-एलएलबी के लिए 60 सीटाें पर 270 आवेदन आए हैं।

कई फैकल्टी ऐसी, जिनमें सीटें भरना भी मुश्किल :मुख्य फैकल्टी के अतिरिक्त कई फैकल्टी ऐसी भी हैं, जिनमें एमजी कॉलेज और सुखाड़िया यूनिवर्सिटी दोनों सीटें भरने को तरस रहे हैं। सुविवि के बैचलर ऑफ टूरिज्म एंड ट्रेवल मैनेजमेंट में 30 सीटों पर महज 13 ही आवेदन आए। इसी तरह 3 बीएससी जिओलॉजी में 20 सीटों के लिए सिर्फ 9 आवेदन आए। बीए ऑनर्स संस्कृत में 20 सीटों पर सिर्फ 13 आवेदन आए। इसी तरह एमजी कॉलेज में भी बीए आॅनर्स संस्कृत के लिए 40 सीटें रखी गई मगर उनपर सिर्फ 9 आवेदन ही आए।

रिपोर्ट : सुखाड़िया यूनिवर्सिटी और एमजी कॉलेज से मिले आंकड़ों के आधार पर।

एमजी कॉलेज में सबसे ज्यादा आवेदन साइंस-मैथ्स के

फैकल्टी सीट आवेदन सीट के मुकाबले आवेदन

बीए 1120 1725 1.5 गुना

बीकॉम 400 316/ आवेदन भी नहीं

बीएसी-बायो 210 984 4.68 गुना

बीएसी-मैथ 70 357 5.1 गुना

सुखाड़िया यूनिवर्सिटी में ऐसे हैं हाल

फैकल्टी सीट आवेदन सीट के मुकाबले आर्ट्स 460 2216 4.81 गुना

कॉमर्स 1200 2001 1.6 गुना

साइंस-बायो 200 2159 10.79 गुना

साइंस-मैथ 200 1791 8.95 गुना

लॉ 120 963 8.02 गुना

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×