Hindi News »Rajasthan »Udaipur» कांग्रेस नेता बैठे धरने पर, एमपीयूएटी के पेंशनर व समाज प्रतिनिधि भी आए

कांग्रेस नेता बैठे धरने पर, एमपीयूएटी के पेंशनर व समाज प्रतिनिधि भी आए

हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर कोर्ट चौराहे पर चल रहा धरना, प्रदर्शन में कांग्रेस के नेताओं ने सरकार की विकास...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 06:55 AM IST

कांग्रेस नेता बैठे धरने पर, एमपीयूएटी के पेंशनर व समाज प्रतिनिधि भी आए
हाईकोर्ट बैंच की मांग को लेकर कोर्ट चौराहे पर चल रहा धरना, प्रदर्शन में कांग्रेस के नेताओं ने सरकार की विकास विरोधी नीतियों का विरोध किया । गोस्वामी दसनाम समाज, अग्रवाल समाज आैर एमपीयूएटी के नेताओं ने आंदोलन का समर्थन दिया।

कांग्रेस के देहात जिलाध्यक्ष लाल सिंह झाला, पूर्व सांसद रघुवीर मीणा, उदयपुर ग्रामीण की पूर्व विधायक सज्जन कटारा, चीरवा सरपंच सुरेश सुथार, ख्याली लाल सुहालका, युवराज सिंह बाघेला, कांग्रेस के गिर्वा ब्लॉक अध्यक्ष भगवत सिंह झाला, पूर्व जिला उप प्रमुख श्याम लाल चौधरी आदि ने कोर्ट गेट पर भाषण देकर 36 वर्ष से चल रहा प्रदेश का सबसे बड़ा आंदोलन के प्रति दिलचस्पी नहीं दिखाने पर राज्य सरकार की निंदा की। एमपीयूएटी पेंशनर्स वेलफेयर सोसायटी के राम निवास सोनी, कोेमल सिंह राठौड़, डा. भंवर लाल हीरावत, जमना शंकर शर्मा, आरती शर्मा, प्रो. डी.डी.शर्मा, जय भटनागर, मोहम्मद हुसैन, डी.सी.कोठारी, आर.के.राजपूत, कैलाश पूनिया ने हाईकोर्ट बैंच अांदोलन की मांग जायज बताई। दशनाम गोस्वामी समाज के अध्यक्ष पवन पुरी गोस्वामी, रीता पुरी गोस्वामी, शंभू पुरी गोस्वामी, सोमेंद्र पुरी गोस्वामी, लालू पुरी गोस्वामी, कैलाश पुरी गोस्वामी, भंवर पुरी व परमेश्वर गिरी धरने पर बैठे।अग्रवाल समाज के पदाधिकारी व प्रतिनिधियों ने हाईकोर्ट बैंच आंदोलन का समर्थन किया। वीणा अग्रवाल के नेतृत्व में समाज की महिलाएं हाईकोर्ट बैंच का समर्थन करेंगी। धरना, प्रदर्शन के दौरान हाईकोर्ट बैंच संभागीय संघर्ष समिति के संयोजक शांति लाल चपलोत, बार अध्यक्ष रामकृपा शर्मा व कार्यकारिणी के लाेग उपस्थित थे।

उदयपुर. हाईकोर्ट बैंच के लिए कोर्ट चौराहा पर मंगलवार को भी धरना जारी रहा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×