• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • कार्यशाला : पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाती पर्माकल्चर से खेती
--Advertisement--

कार्यशाला : पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाती पर्माकल्चर से खेती

उदयपुर | एमपीयूएटी और बिग मेडिसिन चेरिटेबल ट्रस्ट की ओर से अनुसंधान निदेशालय में सोमवार को पर्माकल्चर पर...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 07:00 AM IST
उदयपुर | एमपीयूएटी और बिग मेडिसिन चेरिटेबल ट्रस्ट की ओर से अनुसंधान निदेशालय में सोमवार को पर्माकल्चर पर कार्यशाला हुई। मुख्य वक्ता हैदराबाद अरन्या एग्रीकल्चरल आल्टरनेटिव्स के सीईओ नरसन्ना कोप्पूला ने बताया कि इस तकनीक में वातावरण को नुकसान पहुंचाए बिना कार्य किया जाता है। प्राकृतिक स्रोतों का संरक्षण का भी ध्यान रखा जाता है। कुलपति उमाशंकर शर्मा ने कहा कि पर्माकल्चर का अर्थ कृषि पारिस्थितिक पद्धति के विकास को टिकाऊ और आत्मनिर्भर बनाना है। इसे 120 देशों में अपनाया जा रहा है। हमें भी विचार करने की जरूरत है। अनुसंधान निदेशक प्रो. अभय कुमार मेहता ने बताया कि पर्माकल्चर का मुख्य उद्देश्य है मृदा स्वास्थ्य को बनाए रखना। क्षेत्रीय अनुसंधान निदेशक डाॅ. एसके शर्मा ने भी विचार रखे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..