Hindi News »Rajasthan »Udaipur» करंट से मौत : श्रमिक की मां और भाई को 6 लाख रुपए हर्जाना देने का आदेश

करंट से मौत : श्रमिक की मां और भाई को 6 लाख रुपए हर्जाना देने का आदेश

बड़ी हॉस्पिटल रोड पर निर्माणाधीन मकान के पास बिजली के खंभे से चिपक कर श्रमिक की मौत का दोषी अजमेर विद्युत वितरण...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 07:00 AM IST

बड़ी हॉस्पिटल रोड पर निर्माणाधीन मकान के पास बिजली के खंभे से चिपक कर श्रमिक की मौत का दोषी अजमेर विद्युत वितरण निगम प्रबंधन को माना गया। एडीजे-5 योगेश शर्मा की अदालत ने 5 लाख 97 हजार 576 रुपए मुआवजा राशि का भुगतान मृतक की मां और अवयस्क भाई को देने का आदेश निगम को दिया। झाड़ोल तहसील के राणपुर निवासी जगदीश वढेरा की मौत चार वर्ष पूर्व बिजली के खंभे से चिपकने से हो गई थी। करंट से उसका शरीर निष्क्रिय हो गया था। अस्पताल में डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया था। जगदीश की ओर से एवीवीएनएल के खिलाफ फेटल एक्सीडेंट एक्ट के तहत दावा अधिवक्ता प्रमोद कुमार दाणी ने किया था। अंबा माता पुलिस ने मामला दर्ज करके शव का पोस्टमार्टम कराया था। दावे में बताया गया कि पिता मकना बडेरा की मौत के बाद मां धनकी और 15 वर्षीय छोटे भाई सुभाष का पालन जगदीश ही करता था। एवीवीएनएल प्रबंधन ने न्यायालय में केस की सुनवाई के दौरान सफाई दी कि जिस खंभे से चिपक कर जगदीश की मौत होना बताया, वह कहानी मनगढ़ंत है। निगम के वकील ने कहा कि खंभे में करंट नहीं आ रहा था बल्कि जगदीश ने खुद खंभे के तारों से छेड़खानी की थी। गांव के किसी भी व्यक्ति ने खंभे में करंट आने की शिकायत नहीं की थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×