उदयपुर

  • Home
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • जर्जर जनाना अस्पताल : अभी तय ही नहीं कि स्पेशल ट्रीटमेंट करेंगे या गिराएंगे...फिर भी मरम्मत में 75 लाख रुपए खर्च कर रहा पीडब्ल्यूडी
--Advertisement--

जर्जर जनाना अस्पताल : अभी तय ही नहीं कि स्पेशल ट्रीटमेंट करेंगे या गिराएंगे...फिर भी मरम्मत में 75 लाख रुपए खर्च कर रहा पीडब्ल्यूडी

जिला प्रशासन ने हादसे की आशंका के चलते जनाना अस्पताल की जिस जर्जर बिल्डिंग को खाली कराने के आदेश दिए हैं,...

Danik Bhaskar

Jul 12, 2018, 07:05 AM IST
जिला प्रशासन ने हादसे की आशंका के चलते जनाना अस्पताल की जिस जर्जर बिल्डिंग को खाली कराने के आदेश दिए हैं, पीडब्ल्यूडी 75 लाख रुपए उसी की मरम्मत में खर्च कर रहा है। पीडब्ल्यूडी अभी तक जनाना की तीन बाथरूमों की मरम्मत कर चुका है। अब ब्लड बैंक के समाने जनाना की दीवारों और बाथरूम आदि के पानी निकासी के लिए तोड़फोड़ की जा रही है। संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा के आदेश के बाद भी पीडब्ल्यूडी यह तय नहीं कर पाई कि आखिरकार जनाना का करेंगे क्याωω स्पेशल ट्रीटमेंट करेंगे या गिराएंगे। बावजूद इसके पीडब्ल्यूडी मरम्मत कर 75 रुपये खर्च करने पर आमदा है। भास्कर ने जब पीडब्ल्यूडी और आरएनटी मेडिकल कॉलेज प्रशासन के आला अधिकारियों से बात की तो जवाब तक नहीं दे पाए। हालांकि प्रिंसिपल डॉ. डीपी सिंह ने कहा कि जब तक बिल्डिंग के बारे में फाइनल रिपोर्ट नहीं आएगी तब तक काम नहीं करने देंगे। जनाना अधीक्षक डॉ. सुनीता माहेश्वरी ने कहा कि वे काम क्यों कर रहे हैंω जवाब तो पीडब्ल्यूडी ही देगी।

अस्पताल की इस बिल्डिंग को लेकर अभी तक एक्सपर्ट एजेंसी की ओर से फाइनल रिपोर्ट ही नहीं आई

7 जुलाई 2018

खाली करने के आदेश के बाद काम रोक दिया है


16 मार्च 2017

उदयपुर. जर्जर जनाना की मरम्मत कराता पीडब्ल्यूडी।

हादसे की आशंका के चलते प्रशासन दे चुका है इसे खाली करने के आदेश

150 नवजातों और 350 प्रसूताओं-गर्भवतियों की शिफ्टिंग में छूट रहे पसीने

करीब 150 प्रसूताओं, 200 गर्भवतियों और 150 नवजातों को शिफ्ट करने के आदेश के बाद अस्पताल प्रशासन के शिफ्टिंग में पसीने छूट रहे हैं। हालांकि शिफ्टिंग का काम तेजी से किया जा रहा है। इसके लिए जनाना के ओटी को एमबी के एंडोस्कोपी के दो कमरों में ले जा रहे हैं। कॉलेज के प्रशासनिक भवन के पीछे एग्जामिनेशन में 250 बेड शिफ्ट किए जा रहे हैं।

Click to listen..