• Home
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • चपलोत को जबरन अस्पताल ले जाने की सुगबुगाहट, अनशन पर वकीलों का कड़ा पहरा
--Advertisement--

चपलोत को जबरन अस्पताल ले जाने की सुगबुगाहट, अनशन पर वकीलों का कड़ा पहरा

उदयपुर| हाईकोर्ट बेंच के लिए विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष शांतिलाल चपलोत और राशन डीलर एसोसिएशन अध्यक्ष रोशनलाल...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 07:30 AM IST
उदयपुर| हाईकोर्ट बेंच के लिए विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष शांतिलाल चपलोत और राशन डीलर एसोसिएशन अध्यक्ष रोशनलाल सामोता का अनशन गुरुवार को दूसरे दिन भी जारी रहा। दोपहर में चिकित्सकों ने चपलोत की मेडिकल जांच की। टीम हर छह घंटे में चपलोत और सामोता की जांच कर रही है। बताया गया कि दोपहर में चपलोत का बीपी हाई मिला, जबकि शुगर लो आई थी। शाम को रिपोर्ट सामान्य बताई गई। इधर शाम को कलेक्टर बिष्णु चरण मल्लिक और एसपी राजेन्द्र प्रसाद गोयल चपलोत का मनाने पहुंचे। हालांकि चपलोत ने कहा कि वह आमरण अनशन नहीं तोड़ेंगे। एक बार वकीलों को लगा कि अनशन तुड़वाने के लिए चपलोत को जबरन हॉस्पिटल ले जाया जाएगा। इस पर वकील इकट्ठे हो गए। आंदोलन के समर्थन में पूर्व सांसद रघुवीर सिंह मीणा, पूर्व विधायक सज्जन कटारा अनशन स्थल पहुंचे। मीणा ने कहा कि कांग्रेस इस मांग को लेकर संकल्पबद्ध है। हाईकोर्ट बेंच आदिवासी लोगों को जरूरत ही नहीं, अधिकार भी है। शाम को शहर के कई लोगों ने चपलोत की कुशलक्षेम जानी। सत्संग भी हुआ।

चिकित्सकों की टीम ने हर छह घंटे में की जांच, दोपहर में ब्लड प्रेशर बढ़ा, शाम को रिपोर्ट नॉर्मल

24 घंटे का सामूहिक उपवास : शंकर लाल मेनारिया, भरत वैष्णव, जितेंद्र जैन, सुनील श्रीमाली, दिलीप कुमार बापना, पुष्कर लाल मेनारिया, मनीष खंडेलवाल, महावीर शर्मा, मनीष आमेटा, विश्व वीर कुमार पाहुजा, योगेश चंद्र पोखरना, भरत जोशी, मंजू हाड़ा, सौभाग्य चंद्र नाहर, प्रकाश जावरिया गिरजा शंकर मेहता, रमेश चंद्र सेन, गजेंद्र सिंह सोलंकी, सुनील कुमार त्रिपाठी, ओमप्रकाश प्रजापत, राकेश लोढ़ा, दिलीप सिंह बघेल, निरंजन डामोर, महावीर चपलोत क्रमिक अनशन पर बैठे।

उदयपुर। हाईकोट बेंच की मांग को लेकर आमरण अनशन कर रहे चपलोत से मिलने पहुंचे कलेक्टर और एसपी और वकीलों की भीड़।

उदयपुर बंद का आह्वान हुआ तो देंगे समर्थन : उदयपुर चैंबर ऑफ कॉमर्स ने आंदोलन को समर्थन दिया है। अध्यक्ष पारस सिंघवी ने कहा कि एक मांग पूरी करवाने के लिए भाजपा सरकार में विधानसभा अध्यक्ष व मंत्री रहे चपलोत को आमरण अनशन करना पड़ा। यह सत्ता व संगठन के लिए चिंताजनक है। हाईकोर्ट संघर्ष समिति ने उदयपुर बंद का आह्वान किया तो चेंबर के सभी व्यापारिक संगठन समर्थन देंगे। आदिवासी संघ के सोमेश्वर मीणा ने भी समाज की ओर से उदयपुर बंद का समर्थन किया। बोहरा समुदाय, मेवल क्षत्र पर्यावरण एवं मानव विकास समिति, नाहर ओसवाल समाज संस्थान, लोकतंत्र रक्षा मंच, कर्मवीर सेवा संस्थान, जैन सोशल ग्रुप लोटस, राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना, उदयपुर हलवाई केटरर्स विकास समिति, स्थानकवासी जैन श्वेतांबर श्रावक संघ सहित अन्य संस्थाएं और संगठनों ने आंदोलन को समर्थन दिया।