• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • अिधकमास : जगदीश मंदिर में आज सजाएंगे हिंडोलना, गुलाब के पालने में झूलेंगे श्रीनाथजी
--Advertisement--

अिधकमास : जगदीश मंदिर में आज सजाएंगे हिंडोलना, गुलाब के पालने में झूलेंगे श्रीनाथजी

Udaipur News - आस्था के केंद्र जगदीश मंदिर में अधिकमास की तीज (ठकुरानी तीज) पर शुक्रवार से मनोरथों-झांकियों का दौर शुरू हो जाएगा।...

Dainik Bhaskar

May 18, 2018, 07:40 AM IST
अिधकमास : जगदीश मंदिर में आज सजाएंगे हिंडोलना, गुलाब के पालने में झूलेंगे श्रीनाथजी
आस्था के केंद्र जगदीश मंदिर में अधिकमास की तीज (ठकुरानी तीज) पर शुक्रवार से मनोरथों-झांकियों का दौर शुरू हो जाएगा। विनोद पुजारी ने बताया कि भगवान हिंडोलना में विराजेंगे। झांकियों के दर्शन शाम 7 से रात 10.30 बजे रोज होंगे। फिलहाल मंदिर में कई श्रद्धालु श्रीमद् भागवत कथा, भजन-कीर्तनों में लीन हो रहे हैं। भागवत कथा का समय दोपहर 1 से अपराह्न 4 बजे तक है। उधर, श्रीनाथजी के हवेली मंदिर में ठाकुरजी गुलाब के पालना में झूलेंगे। राजभोग में गुलाबी घटा में दर्शन देंगे। शनिवार को फूल-पत्तियों का पालना सजेगा। मंदिर अधिकारी कैलाश पुरोहित ने बताया कि राजभोग में कमल मंडली के दर्शन होंगे।

किस्मत को दोष देने के बजाय कर्मों को सुधारो : पंड्या

शिव मंदिर सेक्टर 3 में चल रही भागवत कथा के दूसरे दिन गुरुवार को पं. स्कंद कुमार पंड्या ने कहा कि कर्म ही सुख और दुख देते हैं। अच्छे कर्मों से आनंद और बुरे कर्मो से तनाव मिलता है। उन्होंने कहा की कर्मों के आधार पर ही भविष्य तय होता है। इसलिए हर समय किस्मत को दोष देने के बजाय अपने कर्मों को सुधारो। प्रवक्ता अभिषेक जोशी ने बताया कि शाम को श्री जगत शिरोमणि मंदिर में हुई भागवत कथा में पं. पंड्या ने सत्संग की महिमा बताई।

मानस कथा में मनाया राम जन्मोत्सव

महाकालेश्वर मंदिर में चल रही रामचरित मानस कथा के दूसरे दिन गुरुवार को राम जन्म महोत्सव मनाया गया। कथा वाचक आचार्य नीरज आमेटा ने राम के अवतार के लिए नारद का अभिमान, रावण जन्म, श्रीराम लक्ष्मण के विश्वामित्र यज्ञ की रक्षा, अहल्या उद्धार, श्रीराम लक्षण का जनकपुर में प्रवेश आदि प्रसंग सुनाए। हरिओम सत्संग मंडल की अध्यक्ष आभा आमेटा ने बताया कि इस दौरान प्रसंग अनुसार भजन भी सुनाए।

बुद्धि, विवेक और ज्ञान मनुष्य को पशुओं से पृथक करता है : व्यास

अस्थल मंदिर में चल रही श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के दूसरे दिन गुरुवार को पंडित गोपालकृष्ण व्यास ने कहा कि बुद्धि, विवेक और ज्ञान ही मनुष्य को पशुओं से पृथक करते है। भागवत कथा, सत्संग से मन शुद्ध होता है। इस मौके पर पंचामृत अभिषेक आदि अनुष्ठान हुए। अस्थल आश्रम महिला भक्त मंडल में सुशीला बाई रामकन्या, कैलाश बाई, लक्ष्मीबाई आदि ने भजन सुनाए।

X
अिधकमास : जगदीश मंदिर में आज सजाएंगे हिंडोलना, गुलाब के पालने में झूलेंगे श्रीनाथजी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..