Hindi News »Rajasthan »Udaipur» सिर्फ वोट के लिए इस्तेमाल न हो सके, मुस्लिम आबादी को करेंगे जागरूक

सिर्फ वोट के लिए इस्तेमाल न हो सके, मुस्लिम आबादी को करेंगे जागरूक

शहर में अंजुमन तालीमुल इस्लाम का संभाग स्तरीय जागरूकता सम्मेलन जून के आखिरी सप्ताह में होगा। मकसद समुदाय को...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 17, 2018, 07:40 AM IST

सिर्फ वोट के लिए इस्तेमाल न हो सके, मुस्लिम आबादी को करेंगे जागरूक
शहर में अंजुमन तालीमुल इस्लाम का संभाग स्तरीय जागरूकता सम्मेलन जून के आखिरी सप्ताह में होगा। मकसद समुदाय को एकजुट करना, अधिकारों की रक्षा, राजनीति में मुस्लिम नेताओं की पकड़ मजबूत बनाना और भाईचारा बनाए रखना है। आजादी के बाद से राजनीतिक दल मुस्लिमों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करते आ रहे हैं। अंजुमन तालीमुल इस्लाम अब इनके छलावे से मुस्लिम आबादी को बचाएगा। यह बात अंजुमन सदर मोहम्मद खलील, नायब सदर मुनव्वर अशरफ खान, सचिव माहम्मद रिजवान खान, संयुक्त सचिव वकार शेख, प्रवक्ता जहीरुद्दीन सक्का, संयुक्त सचिव वकार शेख, मोहम्मद तबरेज खान, पार्षद नजमा मेवाफरोश आदि ने संयुक्त बयान में कही है। खास बात यह है कि इनमें भाजपा और कांग्रेस के सक्रिय कार्यकर्ता भी हैं। पदाधिकारियों ने कहा कि अब मुस्लिम हितैषी दल को वोट देंगे। जागरूकता सम्मेलन में गैर राजनीतिक वक्ता और औलमा आएंगे।

अगुवाई करने वालों में भाजपा कांग्रेस के कार्यकर्ता भी शामिल

हम सुपुर्द-ए-खाक भी यहीं होते हैं, फिर भी बांटे जा रहे, सोशल मीडिया पर पाबंदी लगाए प्रशासन : पार्षद नजमा

पार्षद नजमा ने सोशल मीडिया पर पाबंदी लगाने की मांग की है। उनका कहना है कि सोशल मीडिया पर आग उगलने वालों को पुलिस पकड़ नहीं सकती, लेकिन इस पर पाबंदी तो लगाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार साजिश के तहत शरीयत में दखल देकर तीन तलाक कानून लाई। हम इसी वतन से बच्चे हैं। मरकर यहीं सुपुर्द-ए-खाक होते हैं। फिर भी बांटने की साजिश रची जा रही है। ऐसे में देश तरक्की नहीं कर सकता। पल्टन की मस्जिद सचिव रियाज हुसैन ने कहा कि रमजान से पहले मस्जिद के बाहर तीन गैस सिलेंडर में आग लगा दी गई। माहौल खराब करने की कोशिश की जा रही है। मेवाड़ की माटी में रचे-बसे भाईचारे को मिटाने पर न जाने क्यों आमदा हैंω। पदाधिकारियों ने कहा कि मुस्लिमों के उत्थान के लिए अंजुमन आवाज बनेगा। उदयपुर विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिमों की भागीदारी सर्वाधिक है। इसके बावजूद नजर अंदाज किया जा रहा है। अब इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। सरकार से अंजुमन बोर्ड गठित करने की मांग की है ताकि इसके नुमाइंदे सीधे सरकार के संपर्क में रह सकें।

उदयपुर. मीडिया से मुखातिब अंजुमन तालीमुल इस्लाम के पदाधिकारी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Udaipur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×