राजस्थान / शिकारी के फंदे में फंसे तेंदुए की दहाड़ों से गूंजा गांव, रेस्क्यू कर उदयपुर लाई वन विभाग की टीम

गांव खीरावाड़ा से रेस्क्यू किया गया तेंदुआ। गांव खीरावाड़ा से रेस्क्यू किया गया तेंदुआ।
X
गांव खीरावाड़ा से रेस्क्यू किया गया तेंदुआ।गांव खीरावाड़ा से रेस्क्यू किया गया तेंदुआ।

फंदे में फिर फंसा तेंदुआ, ट्रेंकुलाइज कर रेस्क्यू किया, शिकारियों को ढूंढ रही विभाग की टीमें
 

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 11:12 AM IST

उदयपुर। सलूंबर के गांव खीरावाड़ा से रेस्क्यू किए गए तेंदुए का शुक्रवार को उदयपुर में मेडिकल चैकअप किया जाएगा। इसके बाद इसे जंगल में छोड़ा जाएगा। यह तेंदुआ गांव खीरावाड़ा में एक शिकारी के फंदे में फंस गया था जिसे गुरुवार रात को रेस्क्यू कर उदयपुर लाया गया।

खीरावाड़ा गांव में एक रिसोर्ट के पास दोपहर में अज्ञात शिकारी द्वारा लगाए गए फंदे में फंसे तेंदुए ने दहाड़े मारीं। सूचना पाकर सलूंबर रेंजर नरपतसिंह राठौड़ ने उच्चाधिकारियों को सूचना दी। सलूंबर और उदयपुर से वनविभाग की संयुक्त टीम मौके पर पहुंची।

उदयपुर से विभाग के शूटर सतनाम सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने तेंदुए को ट्रेंकुलाइज कर रेस्क्यू किया। एहतियात के लिए पुलिस जाब्ता तैनात रहा। रात को तेंदुए को ट्रेंकुलाइज कर रेस्क्यू किया गया। तेंदुए को कुंभलगढ़ के जंगल में छोड़ा जाएगा।

शिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए टीमें गठित
 

क्षेत्रीय वन अधिकारी नरपतसिंह राठौड़, सलूंबर ने बताया कि खीरावाड़ा में अज्ञात शिकारी द्वारा लगाए फंदे में एक नर तेंदुआ फंसा था। जिसे ट्रेंकुलाइज कर रेस्क्यू किया है और कुंभलगढ़ जंगल में छोड़ा जाएगा। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सलूंबर, लसाड़िया, झल्लारा ब्लॉक में शिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए टीमें गठित की गई है।

न्यूज व फोटो : विपिन सोलंकी
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना