--Advertisement--

अब राजस्थान के इस शहर में भी हुआ पेपर आउट, 4 मई को होना था एग्जाम

सुखाड़िया यूनिवर्सिटी में अव्यवस्थाएं : इकोनोमिक्स का पेपर पहले कराने की सूचना के बावजूद 20 दिन तक यूनिवर्सिटी ने नहीं ज

Danik Bhaskar | Apr 13, 2018, 07:48 AM IST

उदयपुर. सुखाड़िया विश्वविद्यालय में अव्यवस्थाओं का आलम इतना बदतर हो गया है कि आगामी 4 मई को होने वाला पेपर ही आउट हो गया। यह बीए प्रथम वर्ष का आगामी 4 मई को होने वाला इकॉनॉमिक्स-सैकंड का पेपर है। पेपर पहले तय कार्यक्रम के अनुसार 23 मार्च को होना था, लेकिन बाद में विवि ने इस दौरान होने वाली कुछ परीक्षाओं की तिथियों को आगे बढ़ाकर अप्रैल-मई कर दिया। लेकिन डूंगरपुर जिले में सीमलवाड़ा के एसएनसी कॉलेज स्थित केंद्र पर यह पेपर पुरानी तिथि को ही करा लिया गया। यह अव्यवस्था के चलते हुआ।

इस तरह बीए कला प्रथम वर्ष के इंडियन इकोनॉमिक डवलपमेंट का पेपर 4 मई से पहले ही आउट होकर वायरल हो गया। जबकि अन्य सभी केंद्रों पर यह पेपर आगामी 4 मई को होना है। पेपर को वायरल हुए कई दिन हो गए मगर अबतक यूनिवर्सिटी ने न तो अधिसूचना जारी की और न ही कोई कार्रवाई। वहीं जिस केंद्र पर पेपर करा लिया गया, वहां दोबारा पेपर होगा या वही पेपर मान्य होगा यह भी यूनिवर्सिटी प्रशासन स्पष्ट नहीं कर पाया है। दरअसल यह यूनिवर्सिटी में आए दिन सामने आ रही अव्यवस्थाओं का एक और नमूना है। गौरतलब है कि इससे पहले भी यूनिवर्सिटी भर्तियों को लेकर हुई गड़बड़ियों के मामले में सवालों के घेरे में है।

कुलपति बोले- यह मानवीय भूल थी , अब नए सिरे से बनवाएंगे पेपर

परीक्षा नियंत्रक इस प्रकरण पर जवाब देने से बच रहे हैं। 4 मई को होने वाले इस पेपर के बारे में भास्कर ने कुलपति प्रो. जेपी शर्मा ने बताया कि इसकी सूचना सीमलवाड़ा केंद्र ने उसी दिन दे दी थी। यह एक सामान्य मानवीय भूल है। इसीलिए कोई कार्रवाई नहीं की। यह पेपर अब नए सिरे से तैयार होगा। लेकिन सीमलवाड़ा के केंद्र पर यह पेपर दुबारा होगा या पहले वाले को ही मान लिया जाएगा, इस पर अभी विचार किया जाएगा।

लगातार एक के बाद एक गड़बड़ियां

असिस्टेंट रजिस्ट्रार भर्ती - बिना किसी नियम कुछ अभ्यर्थियों को अपात्र घोषित किया। विरोध हुआ तो भर्तियां रद्द कीं।
रोस्टर में गड़बड़ी - कई विषयों में दो अलग-अलग रोस्टर के अनुसार भर्तियां जारी की गई। आखिर रोस्टर ऑनलाइन किया। लेकिन फिजिक्स में असिस्टेंट प्रोफेसर का रोस्टर अबतक ऑनलाइन नहीं
लॉ में सिर्फ अंग्रेजी में कराया पेपर - लॉ में असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए सिर्फ अंग्रेजी में पेपर कराया। विरोध हुआ। कोर्ट के डर से पेपर निरस्त कर सबके इंटरव्यू लिए।
एलडीसी में 18 प्रश्न गलत - एलडीसी परीक्षा में 75 में से 18 प्रश्न ही गलत थे। इन्हें निरस्त कर दिया गया। इतने प्रश्नों का गलत हेाना विवि के शिक्षकों की काबिलियत पर ही सवाल लगाता है।
जिओलॉजी में 40 को बाहर किया- जिओलॉजी में असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती में 40 अभ्यर्थियों को बिना किसी नियम-कानून के अपात्र मान बाहर कर दिया गया।
एक खास अभ्यर्थी पर मेहरबान विवि - एलडीसी भर्ती में 75 प्रश्न थे, 18 रद्द हो गए, फिर भी एक अभ्यर्थी को 75 नंबर दिए गए। इस पर पूरा विवि हैरान है। जांच कमेटी ने एसओजी से जांच की मांग की है।