• Home
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur - बाहर पुलिस गश्त और अंदर गार्ड, ताले भी नहीं टूटे और जगदीश मंदिर से चोरी हुए हजारों रुपए
--Advertisement--

बाहर पुलिस गश्त और अंदर गार्ड, ताले भी नहीं टूटे और जगदीश मंदिर से चोरी हुए हजारों रुपए

उदयपुर. जगदीश मंदिर परिसर का वेद मंदिर (बाएं), जिसका ताला तोड़कर चोर नकदी ले गए। क्राइम रिपोर्टर|उदयपुर शहर में...

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 06:50 AM IST
उदयपुर. जगदीश मंदिर परिसर का वेद मंदिर (बाएं), जिसका ताला तोड़कर चोर नकदी ले गए।

क्राइम रिपोर्टर|उदयपुर

शहर में आस्था के प्रमुख केंद्र जगदीश मंदिर परिसर में शनिवार रात चोरी हो गई। चोर व्यास पीठ पर स्थापित वेद मंदिर का ताला तोड़कर हजारों रुपए ले गए। हालांकि सिक्के नहीं ले गए। रहस्य इसलिए भी गहराया है, क्योंकि मंदिर का मुख्य और सांई मंदिर के पास वाला दरवाजा बंद ही था। वारदात ने मंदिर में गार्ड की तैनाती, बाहर करीब 50 मीटर की दूरी चौकी और 300 मीटर दूर घंटाघर थाना पुलिस की गश्त पर भी सवालिया निशान लगा दिया है। सुबह पता चलते ही पुलिस और देवस्थान विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुजारी परिवार ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस का मानना है कि चोरी में किसी जानकार का ही हाथ है। हर पहलू से पड़ताल की जा रही है। दूसरी ओर, देवस्थान अधिकारियों का कहना है कि वेद मंदिर विभाग का नहीं है।

पुलिस ने कहा- 8-10 हजार रुपए गए, पुजारी का दावा 40 हजार का : घंटाघर थानाधिकारी गोपाल चंदेल ने बताया कि वेद मंदिर में चढ़ावे के 8-10 हजार रुपए चोरी होने का अनुमान है। सीसीटीवी फुटेज भी देखे जा रहे हैं। हो सकता है कि चोरी में किसी जानकार का ही हाथ हो। हर नजरिए से मामले की तफ्तीश की जा रही है। वहीं पुजारियों ने कहा कि वेद मंदिर में भारतीय मुद्रा के साथ विदेशी करेंसी भी थी। चोर 30-40 हजार रुपए ले भागे।

मैनेजर ने नहीं दी कैमरे बंद होने की रिपोर्ट


चार में से एक ही सीसीटीवी कैमरा चालू

मंदिर परिसर में चार सीसीटीवी कैमरे हैं, लेकिन एक ही चालू है। यह भी मुख्य मंदिर पर लगा है। आठ से 10 फीट की दीवार से कोई भी मंदिर में प्रवेश कर सकता है। पुजारी गजेंद्र ने बताया कि देव स्थान विभाग को कहा था कि दीवार पर जालियां लगाएं और सीसीटीवी चालू करें, लेकिन सुनवाई नहीं होती। विभाग ने डूंगरपुर के सिसोद निवासी भीनसम, हरिराम मीणा अौर केसरियाजी के पास बिलख निवासी जगदीश को गार्ड के तौर पर जगदीश मंदिर में नियुक्त कर रखा है। ये गार्ड्स चार-चार घंटे की ड्यूटी पर रहते हैं। बीती रात दो बजे बाद हरिराम की ड्यूटी खत्म हो रही थी और भीनसम की बारी थी, लेकिन वह हॉस्पिटल में परिजन का भर्ती होना बताकर रात को ही चला गया था। हरिराम का कहना है कि वह मुख्य मंदिर के अंदर एक बजे सोया था। आधी रात सिक्के गिरने की आवाज आई तो नींद खुली। ऊपर से मंदिर परिसर में झांका, लेकिन कोई नहीं दिखा। पौने पांच बजे पुजारी गजेंद्र आए तो उन्होंने चोरी की सूचना दी।

क्राइम रिपोर्टर|उदयपुर

शहर में आस्था के प्रमुख केंद्र जगदीश मंदिर परिसर में शनिवार रात चोरी हो गई। चोर व्यास पीठ पर स्थापित वेद मंदिर का ताला तोड़कर हजारों रुपए ले गए। हालांकि सिक्के नहीं ले गए। रहस्य इसलिए भी गहराया है, क्योंकि मंदिर का मुख्य और सांई मंदिर के पास वाला दरवाजा बंद ही था। वारदात ने मंदिर में गार्ड की तैनाती, बाहर करीब 50 मीटर की दूरी चौकी और 300 मीटर दूर घंटाघर थाना पुलिस की गश्त पर भी सवालिया निशान लगा दिया है। सुबह पता चलते ही पुलिस और देवस्थान विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुजारी परिवार ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस का मानना है कि चोरी में किसी जानकार का ही हाथ है। हर पहलू से पड़ताल की जा रही है। दूसरी ओर, देवस्थान अधिकारियों का कहना है कि वेद मंदिर विभाग का नहीं है।

पुलिस ने कहा- 8-10 हजार रुपए गए, पुजारी का दावा 40 हजार का : घंटाघर थानाधिकारी गोपाल चंदेल ने बताया कि वेद मंदिर में चढ़ावे के 8-10 हजार रुपए चोरी होने का अनुमान है। सीसीटीवी फुटेज भी देखे जा रहे हैं। हो सकता है कि चोरी में किसी जानकार का ही हाथ हो। हर नजरिए से मामले की तफ्तीश की जा रही है। वहीं पुजारियों ने कहा कि वेद मंदिर में भारतीय मुद्रा के साथ विदेशी करेंसी भी थी। चोर 30-40 हजार रुपए ले भागे।