सेंट्रल जेल के होमगार्ड को छह माह से सेलरी नहीं मिली

Udaipur News - घर चलाना मुश्किल, साल में 6 से 8 माह की ड्यूटी फिर भी सेलरी नहीं उदयपुर| सेंट्रल जेल में होमगार्ड को जनवरी का...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 11:25 AM IST
Udaipur News - rajasthan news central gel39s homeguard has not got salaries for six months
घर चलाना मुश्किल, साल में 6 से 8 माह की ड्यूटी फिर भी सेलरी नहीं

उदयपुर| सेंट्रल जेल में होमगार्ड को जनवरी का वेतन भी अभी तक नहीं मिला है। यहां रोटेशन में एक से दो महीने की ड्यूटी पर इनको लगाया जाता है। जो होमगार्ड जनवरी या फरवरी में ड्यूटी करके गए, उनको अभी तक जेल प्रशासन ने वेतन नहीं दिया। इनके साथ बॉर्डर होमगार्ड का वेतन भी नहीं आया। होमगार्ड्स का कहना है कि कभी एक महीने की ड्यूटी रहती है तो कभी कभार दो माह तक नियमित काम मिल जाता है। औसत एक होमगार्ड को सालभर में 6 से 8 माह तक ही रोजगार मिलता है। ऐसे में भी वेतन में इस तरह देरी होने से परेशानी बढ़ जाती है। मामले में होमगार्ड के डिप्टी कमांडेंट प्रणय जसोरिया का कहना है कि जेल विभाग से बात की तो बजट की समस्या बताई। मुख्यालय को इस बारे में बताया है। होमगार्ड का कहना है कि आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ रहा है। बच्चों के स्कूल, घरेलू राशन और खर्च, किराया यहां तक की आने-जाने के बाइक पेट्रोल का खर्चा भी भारी हो रहा है। ड्यूटी के दौरान और बाद में जेल प्रशासन से भी बात की, लेकिन उन्होंने भी बजट का अभाव बताकर असमर्थता जता दी।

इधर, नगर निगम में लगे होमगार्ड का वेतन समय पर

नगर निगम में फायर ब्रिगेड, सामुदायिक भवन, अतिक्रमण दस्ते आदि जगहों पर लगे होमगार्ड का वेतन समय पर आ रहा है। नाइट ड्यूटी में लगने वाले जवानों का वेतन भी समय पर आ जाता है। इनका वेतन सीधा गृह रक्षा दल मुख्यालय या गृह विभाग से आता है। जेल में लगे होमगार्ड के साथ अक्सर ये परेशानी आती है। क्योंकि जेल बजट पर इनका वेतन भुगतान होता है।

जिम्मेदारी बड़ी, लेकिन वेतन का संकट : होमगार्ड की ड्यूटी अक्सर जेल, ट्रेफिक, चुनाव, कार्यक्रम, नाइट गश्त में लगाई जाती है। अक्सर इनको बड़ी जिम्मेदारी की जगह पर लगाया जाता है लेकिन बड़ी जिम्मेदारी के साथ वेतन का इस तरह देरी से आना इनके जीवन यापन पर ही संकट खड़ा कर देता है।

X
Udaipur News - rajasthan news central gel39s homeguard has not got salaries for six months
COMMENT