• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur News rajasthan news hemophilia patients not getting factor 9 in hospital administration and distributor fights
विज्ञापन

अस्पताल प्रशासन आैर डिस्ट्रीब्यूटर के झगड़े में हीमोफीलिया मरीजों को नहीं मिल रहा फैक्टर-9

Dainik Bhaskar

Mar 13, 2019, 06:45 AM IST

Udaipur News - एमबी अस्पताल प्रशासन और दवा वितरक के बीच विवाद के चलते संभाग में हीमोफीलिया के 150 मरीजों को फैक्टर-9 की टीके नहीं मिल...

Udaipur News - rajasthan news hemophilia patients not getting factor 9 in hospital administration and distributor fights
  • comment
एमबी अस्पताल प्रशासन और दवा वितरक के बीच विवाद के चलते संभाग में हीमोफीलिया के 150 मरीजों को फैक्टर-9 की टीके नहीं मिल पा रहे हैं। शरीर में खून के अंदरूनी बहाव की शिकायत पर मरीज भर्ती हो रहे हैं, जिन्हें बार-बार प्लाज्मा चढ़ाया जा रहा है। इससे उनमें संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है।

एमबी अस्पताल अधीक्षक डॉ. लाखन पोसवाल ने बताया कि निदेशालय के आदेश पर सीडी डिस्ट्रीब्यूटर को फैक्टर-9 मुहैया कराने के लिए पत्र लिखा रखा है, लेकिन वह उपलब्ध नहीं करा रहे हैं। फर्म के बिलों में गड़बड़ियों के चलते हर बिल जांच-पड़ताल के बाद ही पास करवा रहे हैं। दूसरी ओर फर्म के सुरेन्द्र गोदावत का कहना है कि अस्पताल प्रशासन ने पिछले साल जुलाई से उनके बिल अटका रखे हैं। इसलिए फैक्टर-9 व अन्य दवाइयां मंगवाने के लिए लेन-देन में परेशानी होने लगी है। हालांकि उन्होंने टेंडर शर्तों के मुताबिक 30 दिन के भीतर फैक्टर-9 उपलब्ध कराने की बात कही है। बता दें फैक्टर-9 टीके की सप्लाई पिछले चार माह से प्रदेशभर में ठप है। इधर, हीमोफीलिया सोसायटी उदयपुर चैप्टर के सचिव बाबूलाल पुरोहित ने मरीजों की परेशानी पर चिंता जताई है।

उदयपुर. एमबी में पहुंचे फैक्टर-9 के रोगी।

ये है विवाद : बिलों में गड़बड़ी पर डिस्ट्रीब्यूटर को ब्लैक लिस्ट करने की तैयारी

एमबी अस्पताल प्रशासन ने सीडी डिस्ट्रीब्यूटर के दवा सप्लाई संबंधी बिलों में गड़बड़ी पकड़ी थी। आरएमआरएस के सचिव और एमबी अस्पताल के अधीक्षक डॉ. पोसवाल ने फर्म को नोटिस जारी कर लिखित जवाब भी मांगा था। अब इस फर्म को ब्लैकलिस्ट करने की तैयारी की जा रही है, क्योंकि फर्म से सोडियम 40, लेवोसलपिरिड कैप्सूल की मांग की थी, जबकि उसने पेंटाप्राजोल और डॉमपैरीडोन (एसआर) 40 एमजी, 30 एमजी दवा भेज दी और बिल सोडियम 40, लेवोसलपिरिड का वसूल लिया। इंजेक्शन- एंटीथाइमोसाइट ग्लोब्यूलिन एटीजी 250 एमजी की जगह इंजेक्शन- एटीजी की आपूर्ति कर दी और बिल -एंटीथाइमोसाइट ग्लोब्यूलिन एटीजी 250 एमजी का भेज दिया। इन दोनों मामलों में हजारों रुपए की गड़बड़ी बताई जा रही है।

X
Udaipur News - rajasthan news hemophilia patients not getting factor 9 in hospital administration and distributor fights
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन