गाइड युवक की हत्या, बिलखती बहन बोली- धड़कन चलरही, काेई हाॅस्पिटल पहुंचाओ, पिता ने कहा- ही इज नाे माेर

Udaipur News - नाई थाना क्षेत्र के कालाराेही में साेमवार तड़के चाकू से दो वारकर युवक की हत्या कर दी गई। मृतक पटवा गली, जगदीश चौक...

Feb 20, 2020, 01:01 PM IST
Udaipur News - rajasthan news murder of guide young man sister sister said beats moving reach kai hospital father said i am not my

नाई थाना क्षेत्र के कालाराेही में साेमवार तड़के चाकू से दो वारकर युवक की हत्या कर दी गई। मृतक पटवा गली, जगदीश चौक हाल श्रीनगर, न्यू रामपुरा निवासी अनुराग पुत्र रमेश पटवा टूरिस्ट गाइड था। वह तड़के तीन बजे किसी फाेन कॉल पर घर से कार लेकर निकला था। सुबह राहगीराें ने राेड पर शव होने की सूचना थाने में दी। पिता के साथ घटना स्थल पर पहुंची अनुराग की बहन नीलम को भाई की हालत पर एकाएक विश्वास नहीं हुआ। वह बिलखते हुए कहती रही- धड़कन चल रही है, कोई भाई को हॉस्पिटल ले जाओ। पिता ने सुबकते हुए कहा कि ही इज नो माेर, तो नीलम जोरों से रोने लगी। एएसपी मुख्यालय अनंत कुमार, डीएसपी प्रेम धणदे, नाई थानाधिकारी मुकेश साेनी जाप्ते के साथ पहुंचे। एफएसएल प्रभारी अभय प्रताप सिंह ने सुबूत जुटाए। एसपी कैलाशचंद्र बिश्नोई ने बताया कि तीन युवकों को डिटेन किया है, जिन्होंने शुरुआती पूछताछ में लूट के इराद से हत्या करना बताया है। ये तीनों युवक अनुराग के परिचित ही हैं।

पिता ने कहा रात काे तीन बजे तक गाने सुन रहा था, फिर कार लेकर निकला


घटना स्थल पर रमेश पटवा ने पुलिस काे बताया कि शाम काे जगदीश चाैक की तरफ शादी समाराेह में प|ी अाैर अनुराग के साथ गया था। रात करीब 11 बजे लौटे। अनुराग तीन बजे तक कार में साउंड सिस्टम पर गाने सुन रहा था। पड़ाेसियाें के टोकने पर अनुराग काे साउंड बंद कर घर में अाने को कहा। तभी किसी का फाेन अाया। कॉल करने वाला अनुराग से झगड़ रहा था। इसके बाद वह कार लेकर निकल गया। बताया गया कि रमेश पटवा, उनका बड़ा बेटा प्रदीप अाैर अनुराग गाइडिंग करते थे। पिता उदयपुर में ही गाइडिंग करते हैं। अनुराग स्पैनिश भाषा में काेर्स कर चुका था। वह दिल्ली में रहता था। वहां से पर्यटकों काे टूर पर ले जाया करता था और दाे दिन पहले ही दिल्ली से आया था। प्रदीप जर्मन अाैर इंग्लिश में गाइडिंग करता है। पुलिस ने एमबी हाॅस्पिटल की माेर्चरी में पाेस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया।

बताया था हादसा, पिता पास आने की हिम्मत नहीं कर सके, शव देख बदहवास हुई नीलम

घटना स्थल पर पुलिस ने पहले अनुराग के दाेस्ताें काे बुलाकर पूछताछ की गई। इसके सूचना पर पिता रमेश अाए। विलाप करते हुए देर तक सड़क पर पड़े अपने बेटे के शव काे देखने के लिए अागे नहीं बढ़े। इसके बाद बड़ी बहन नीलम अाईं। नीलम काे यह बता रखा था कि दुर्घटना हुई है। अाने के बाद अनुराग के दाेस्ताें से यही कहती रही कि अगर धड़कने चल रही है ताे एेसे क्यूं पड़ा रखा है। हाॅस्पिटल ले जाअाे। फिर जैसे ही पिता के पास गई अाैर कहा हाॅस्पिटल ले जाअाे ताे पिता ने कहा ही इज नाे माेर बेटी। इसके बाद दाेनाें काे वहां उपस्थित अनुराग के दाेस्ताें ने संभाला। पुलिस ने शव की तलाशी ली ताे अनुराग का माेबाइल, पर्स अाैर गले की चेन गायब थे। जो कार लेकर वह घर से निकला था, वह भी नहीं मिली। अनुमान है कि हत्या के बाद हमलावर सब ले भागे।

उदयपुर. कालारोही में अनुराग का शव ले जाते देख पिता और बहन रो पड़े। दोनों फफकते हुए एक-दूसरे को समझाने-संभालने की कोशिश करते रहे।

अनुराग

Udaipur News - rajasthan news murder of guide young man sister sister said beats moving reach kai hospital father said i am not my
X
Udaipur News - rajasthan news murder of guide young man sister sister said beats moving reach kai hospital father said i am not my
Udaipur News - rajasthan news murder of guide young man sister sister said beats moving reach kai hospital father said i am not my

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना