• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur News rajasthan news order of appointment in the morning stay of court in the afternoon candidates waiting in the panchayat committees till night

सुबह नियुक्ति के आदेश, दोपहर में कोर्ट का स्टे, रात तक पंचायत समितियों में डटे रहे अभ्यर्थी, कई जगह हुआ हंगामा

Udaipur News - शिक्षक भर्ती 2018 में चयनित अभ्यर्थियों के सरकारी स्कूलों में नियुक्ति-कार्यग्रहण कराने के बीच बुधवार दोपहर अचानक...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 06:46 AM IST
Udaipur News - rajasthan news order of appointment in the morning stay of court in the afternoon candidates waiting in the panchayat committees till night
शिक्षक भर्ती 2018 में चयनित अभ्यर्थियों के सरकारी स्कूलों में नियुक्ति-कार्यग्रहण कराने के बीच बुधवार दोपहर अचानक कोर्ट स्टे की सूचना के बाद जिलेभर की पंचायत समिति और मुख्य ब्लॉक डीईअो कार्यालयों में जमकर हंगामा हुआ। झाड़ोल, फलासिया, भींडर, गिर्वा और गोगुंदा आदि ब्लॉक में विरोध प्रदर्शन हुए। मावली सीबीईओ कार्यालय में गुस्साए अभ्यर्थियों को शांत करने के लिए पुलिस जाब्ता बुलाना पड़ा। ज्यादातर पंचायत समिति और सीबीईओ कार्यालय में अफसर गायब रहे। पंचायत समिति विकास अधिकारी और ब्लॉक सीबीईओ के समय पर नियुक्ति आदेश जारी नहीं करने से सैकड़ाें अभ्यर्थी कार्यग्रहण से वंचित रह गए। नियुक्ति को लेकर अभ्यर्थी देर रात तक बीडीओ और सीबीईओ कार्यालय में जमे रहे। खासकर परेशानी दूसरे जिलों से आए अभ्यर्थियों को हुई। डीईओ सुशीला नागौरी ने बताया कि कोर्ट स्टे की सूचना मिली, लेकिन आदेश नहीं मिला। सीईओ के मार्गदर्शन लेकर काम कर रहे हैं।

जानिए... यह है पूरा मामला और दिनभर ऐसे चला घटनाक्रम

भर्ती में चयनित अभ्यर्थियों की काउंसलिंग जुलाई 2018 में हुई। कुछ दिन बाद इस पर स्टे लग गया जो 8 फरवरी को हटा। तीन दिन बाद शिक्षा मंत्री ने सभी जिला परिषद सीईअो को कहा कि अभ्यर्थियों को तीन दिन में कार्यग्रहण कराएं। बुधवार को सुबह पंचायत समितियों में बड़ी संख्या में नियुक्ति पत्र लेने के लिए अभ्यर्थियों की भीड़ जमा होने लगी। दोपहर में अचानक भर्ती पर स्टे की सूचना ने सारा माजरा बिगाड़ दिया। इस सूचना से सीबीईओ ने अभ्यर्थियों को कार्यग्रहण करने से रोक दिया। उनसे नियुक्ति पत्र वापस ले लिए, लेकिन इससे मामला शांत होने के बजाय और उग्र होता गया। देर रात अभ्यर्थी अफसराें को फोन लगाते रहे, लेकिन कोई संतुष्टजनक जवाब नहीं मिला।

मावली सीबीईओ कार्यालय में प्रदर्शन करते अभ्यर्थी।

300 से अधिक स्कूल ऐसे, जिनमें एक-एक ही है शिक्षक, परीक्षा के दिनों में नुकसान बच्चों का

अफसरों की ढिलाई का नुकसान सरकारी स्कूल के बच्चों को होगा। प्रदेश के करीब 26 हजार शिक्षकों की ज्वाइनिंग होनी हैं इनमें उदयपुर जिले में ऐसे 1631 शिक्षक हैं। अभी ज्वाइनिंग होने से मार्च में होने वाली बोर्ड परीक्षाओें में बच्चों को मदद मिलती। करीब 300 स्कूल तो ऐसे हैं जहां सिर्फ एक शिक्षक है। मार्च में लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लग जाएगी। इसके बाद दो माह तक ज्वाइनिंग नहीं होगी।

अफसरों के पास स्टे आदेश तक नहीं था : शेरसिंह

शिक्षक नेता शेरसिंह चौहान ने बताया कि बीडीओ-सीबीईअो के समय पर नियुक्ति आदेश जारी नहीं करने से सैकड़ों अभ्यर्थी कार्यग्रहण से वंचित रहे। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हो। दिन में कोर्ट स्टे की वायरल सूचना पर कार्यग्रहण करने से रोक दिया। जबकि अफसरों के पास कोई स्टे आदेश नहीं था।

स्टे से नहीं कर सकेंगे कार्यग्रहण : सीईओ

सभी बीडीओ ने नियुक्ति पत्र जारी कर दिए हैं और कई अभ्यर्थियों ने कार्यग्रहण भी कर लिया है। कोर्ट के स्टे के कारण अब बाकी वंचित अभ्यर्थी कार्यग्रहण नहीं कर पाएंगे। कमर चौधरी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, जिला परिषद, उदयपुर

X
Udaipur News - rajasthan news order of appointment in the morning stay of court in the afternoon candidates waiting in the panchayat committees till night
COMMENT