पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जियो दिल से अवार्ड्स में सीजन 8 के लिए सलेक्ट हुए राजस्थान के सात फाइनलिस्ट्स

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

उदयपुर | साधारण जिंदगी में असाधारण काम करने वालों के लिए 94.3 माय एफएम के जियो दिल से अवार्ड सीजन-8 में मिले हजारों नॉमिनेशंस में से राजस्थान से 7 फाइनलिस्ट सलेक्ट किए गए हैं। जियो दिल से अवार्ड के प्रेजेंटिंग पार्टनर हैं एलआईसी आफ इंडिया, हर पल आपके साथ, पावर्ड बाय एब्रो मास्किंग टेप - मजबूती का भरोसेमंद रिश्ता। राजस्थान रीजन से ये 7 फाइनलिस्ट सलेक्ट किए गए हैं।

आर्ट एंड कल्चर : नरेंद्र सिंह शेखावत, अजमेर : नरेंद्र सिंह शेखावत ने 10वीं शताब्दी के वक्त के पुराने मंदिर का जीर्णोद्धार कर उसे फिर से जीवित किया। विरासतों के प्रति लगाव ने उन्हें एक विरासत संरक्षणवादी के तौर पर स्थापित किया। अब तक इन्होंने 100 से ज़्यादा कलाकृतियों को पुर्नस्थापित किया है।

हेल्थ एंड सेनिटेशन, डॉ. नागेंद्र शर्मा, जोधपुर : मिर्गी जैसी बीमारी के अंधविश्वासी धारणाओं को दूर करने के लिए 20 वर्षों से निरंतर काम कर रहे है न्यूरोसर्जन डॉ. नागेंद्र शर्मा। दो दशक में 25,000 से ज्यादा मिर्गी मरीजों का मुफ्त इलाज किया है और दकियानूसी सोच को दूर कर 6 वैवाहिक जोड़ों के जीवन को सुखमय बनाया है।

इकोनामिक वेलफेयर, अनीता भाटी, जोधपुर : इन्होंने महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए 200 से अधिक महिलाओं को कौशल प्रशिक्षण दिया। 6 बैचेज के साथ शुरू किए सिलाई केंद्र में प्रशिक्षित महिलाएं आज स्वयं से कमाई शुरू कर चुकी है।

चाइल्ड केयर एंड डवलपमेंट : योगेंद्र शर्मा, बीकानेर : इन्होंने खोए और अनाथ बच्चों को बेहतर जीवन देने का बीड़ा उठाया है। अब तक 40 बच्चों को आश्रय दिया है। भारत ही नही विदेशों में भी बच्चे गोद लेने के इच्छुक, समर्थ और सही अभिभावकों को मदद की है। तस्करी में फंसे बच्चों को भी रिहा करवाने की कानूनी लड़ाइयां लड़ी है। सरकारी दस्तावेजों की मदद से खोए दिव्यांग बच्चों को उनके घर तक पहुंचाया है।

हेल्थ एंड सेनिटेशन, भुवनेश गुप्ता, कोटा : अब तक 99 बार रक्त दान कर चुके है। इतना ही नही पिछले 25 वर्षों से ‘जीवन दाता’ नाम से निस्वार्थ भाव से 2500 से अधिक लोगों की स्वैच्छिक रक्त दान समूह चला रहे हैं। अब तक 3000 शिविर करवा चुके हैं। इससे 25000 से ज्यादा लोगों को जीवन दान मिला है।

वीमेन वेलफेयर, प्रतिभा दीक्षित, कोटा : महिला कल्याण के लिए 2 दशक से काम कर रही हैं। बालिकाओं और आर्थिक रूप से कमजोर लड़कियों के उत्थान को प्रतिबद्ध प्रतिभा लड़कियों को शिक्षा, कौशल विकास और रोजगार प्रदान करती है। इन्होंने कई लड़कियों की शादी के लिए भी आर्थिक सहायता की है।

पर्यावरण संरक्षण, विष्णु अग्रवाल, जयपुर : पर्यावरण हित में लोगों से अंतिम संस्कार के दौरान पेड़ों की लकड़ियों के बजाय गौ-कष्ट इस्तेमाल करने की अपील की और कई लोगों को मनाया भी। शुरुआती विरोध के बाद अब देश के 100 शहरों में इस विचार से लोग जुड़ते जा रहे हैं।

(फाइनलिस्ट्स को वोट देने के लिए http://www.myfmindia.com/jiyodilseawards पर लॉग इन करें। वोटिंग रविवार तक ही हो सकेगी। जियो दिल से अवार्ड सीजन 8 का फिनाले नासिक में होगा।)
खबरें और भी हैं...