• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur News rajasthan news such awareness has to be shown for a few days people very close to the funeral family members are also following the rules of distance

कुछ दिन दिखानी है ऐसी जागरूकता.... अंतिम संस्कार में बेहद करीबी लोग, बैठक में भी परिजन कर रहे दूरी के नियम की पालना

Udaipur News - कोरोना वारयस संक्रमण से बचाव के लिए लॉकडाउन का पालन कई शहरवासी सख्ती और अनुशासन से कर रहे हैं। बीते दिनों जिन...

Mar 27, 2020, 10:05 AM IST

कोरोना वारयस संक्रमण से बचाव के लिए लॉकडाउन का पालन कई शहरवासी सख्ती और अनुशासन से कर रहे हैं। बीते दिनों जिन परिवारों में किसी सदस्य का निधन हुआ, वहां अंतिम संस्कार तो गिने-चुने करीबी रिश्तेदारों-परिजनों की मौजूदगी में हुए। नियमित बैठकों में भी अव्वल ताे भीड़ जुट ही नहीं, परिजन भी एक-दूसरे से निश्चित दूरी के नियम को लेकर अनुशासित हैं।

पानरवा : अंतिम संस्कार में काम आई पुलिस की समझाइश


झाड़ोल (फ) | पानरवा क्षेत्र के सड़ली गांव में राजकुमार पुत्र देवीलाल खराड़ी का निधन होगया। थानाधिकारी नाथूसिंह ने बताया कि युवक की मौत अहमदाबाद में दुर्घटना में हुई थी। शव सुबह गांव में लाया गया। इससे पहले राजकुमार के घर से श्मशान तक डैया पुलिस चौकी के जवान तैनात हो गए। अंतिम संस्कार में 15 लोग शामिल हुए, जिन्हें पुलिस ने समझाकर एक-दूसरे से दूरी बनाए रखने के लिए राजी किया।

...जब परिवार के छह सदस्यों ने दी अंतिम विदाई : जयसमंद. क्षेत्र के वेलवड़ी गांव में बुधवार रात वृद्धा पारू बाई सेवक की मौत हो गई। गुरुवार दोपहर साढ़े 12 बजे अंतिम संस्कार किया गया। इसमें परिवार के छह सदस्य ही शामिल हुए। इनमें चार कंधा देने वाले थे, जबकि दो सदस्य क्रिया-कर्म सामग्री लिए थे। अंतिम संस्कार के लिए ट्रैक्टर से लकड़ियां पहुंचाई गई।

नवनीत पारीख के घर बैठक में बैठे परिवार के सदस्य।

अंतिम संस्कार के बाद बैठक में नजदीकी सदस्य ही आए

भास्कर की संवेदना भी इन परिवारों के साथ है, जो शोक के विकट समय में भी नहीं तोड़ रहे अनुशासन


सेक्टर-11 में नवनीतलाल पारीख का स्वर्गवास शुक्रवार को हो गया था। उनके भाई तुलसीदास पारीख ने बताया कि संस्कार के समय परिवार के जो नजदीकी सदस्य नहीं आए, उन्होंने फोन पर हिम्मत बंधवाई। लॉकडाउन हाेने के कारण इंदौर से बहन और पुणे से भी कई परिजन पहुंच नहीं पाए। बैठक में ज्यादा लोग नहीं आ रहे, लेकिन व्हाट्सएप के जरिए शोक व्यक्त करने का सिलसिला बना हुआ है।


देवाली निवासी माेड़ीराम कुमावत का स्वर्गवास शनिवार को हो गया था। मोड़ीराम के पुत्र प्रकाश कुमावत ने बताया अंतिम संस्कार मे भी ज्यादा लोग शामिल नहीं हो पाए। रविवार को लॉकडाउन हो जाने के कारण कई रिश्तेदार नहीं आए। उन्होंने फोन कॉल के जरिए सांत्वना दी। लॉकडाउन के कारण नियमित बैठक में ज्यादा लोग नहीं आ रहे हैं। बैठक में जो लोग आते हैं, वो भी निर्धारित दूरी बनाकर बैठते हैं।


देवाली निवासी मोडिराम का घर , बैठक मे निर्धारित दूरी बनाकर लोग बैठे

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना