राजस्थान / हैडकांस्टेबल का शव राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्दे खाक, हत्या के चार आरोपी पकड़े



अब्दुल गनी के शव को राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्दे खाक किया गया। अब्दुल गनी के शव को राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्दे खाक किया गया।
अब्दुल गनी की हत्या के आरोपी। अब्दुल गनी की हत्या के आरोपी।
X
अब्दुल गनी के शव को राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्दे खाक किया गया।अब्दुल गनी के शव को राजकीय सम्मान के साथ सुपुर्दे खाक किया गया।
अब्दुल गनी की हत्या के आरोपी।अब्दुल गनी की हत्या के आरोपी।

  • परिजन मुआवजे की मांग पर अड़े, प्रशासन के समझाने पर अंतिम संस्कार को हुए राजी
  • बयान लेकर लौट रहे हैडकांस्टेबल की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी
     

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2019, 05:39 PM IST

राजसमंद/ भीलवाड़ा। राजसमंद में मारे गए हैडकांस्टेबल हैडकांस्टेबल अब्दुल गनी (46) का रविवार को भीलवाड़ा स्थित उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं अब्दुल गनी की हत्या के चार आरोपियों को पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया जबकि दो आरोपी अभी पकड़ में नहीं आए हैं। उल्लेखनीय है कि भीम थाना क्षेत्र में जमीन विवाद में मारपीट मामले में बयान लेकर और मौका पर्चा बनाने के बाद लौट रहे हैडकांस्टेबल अब्दुल गनी (46) पर कुछ नकाबपोशों ने सरियों व पाइपों से ताबड़तोड़ हमले किए। इससे हैडकांस्टेबल की मौके पर ही मौत हो गई थी।

 

उदयपुर रेज आई विनीता ठाकुर ने बताया कि पदमेला निवासी नैना देवी पत्नी प्यारे सिंह, नैना का पुत्र नागेश्वर, पड़ोसी लक्ष्मण सिंह पुत्र गोपाल सिंह, मुकेश पुत्र विजय सिंह को हत्या के आरोप में अरेस्ट किया है। दो आरोपी राजू सिंह और मिट्ठू सिंह फरार हैं।

 

उधर, अब्दुल गनी के शव को जहाजपुर में सुपुर्दे खाक कर दिया गया। अब्दुल गनी के परिजनों ने परिवार में एक को सरकारी नौकरी व 50 लाख का मुआवजा मांगा। वे दो घंटे तक अपनी मांग पर अड़े रहे। वहां पहुंचे कलेक्टर राजेंद्र भट्ट और एसपी हरेंद्र महावर ने इस बारे में सरकार से बात करने का आश्वासन दिया। इसके बाद परिजन मान गए तथा राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उधर, राजसमंद पुलिस ने अपना एक दिन का वेतन अब्दुल गनी के परिवार को देने का निर्णय किया है।

 

अब्दुल गनी भीम थाने में तैनात थे और मूलतः: जहाजपुर (भीलवाड़ा) और हाल कुंवारिया निवासी थे। वे शनिवार शाम भीम क्षेत्र के रातड़ियों का थोग में बयान लेने गए थे। तभी नकाबपोश आरोपियों ने हमला किया। कार्यवाहक एसपी राजेश गुप्ता ने बताया कि अब्दुल गनी रातड़ियों का थोग में बयान लेने गए थे। लौटते हुए टाडगढ़ रोड पर हमला हुआ। नैना के खिलाफ उसकी पड़ोसी कमला देवी ने घर में घुस कर मारपीट करने का केस दर्ज कराया था। मामला 11 जुलाई को दर्ज कराया गया था।

 

न्यूज व फोटो : नरपत सिंह चौहान, फतेहलाल शर्मा

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना