राजस्थान / बारिश थमी, सीसारमा से आवक जारी, स्वरूपसागर पर फिर चादरबादल छंटने से दोपहर में गर्मी



फतेहसागर भी लबालब भरा हुआ है। फतेहसागर भी लबालब भरा हुआ है।
X
फतेहसागर भी लबालब भरा हुआ है।फतेहसागर भी लबालब भरा हुआ है।

  • बारिश का क्रम टूटने से इतने दिन से खेतों में पानी भरने से चिंतित किसानों की चिंता दूर होने लगी है

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 12:06 PM IST

उदयपुर। बादल छंटने से शु़क्रवार को दिनभर मौसम साफ रहा। हालांकि कैचमेंट से फतहसागर, पीछोला सहित कई झीलों में धीरे धीरे आवकक बनी हुई है। दूसरी तरफ किसान राहत की सांस ले रहे जो कि खेतों में पानी भरने से चिंतित थे। शहर में शुक्रवार को मौसम साफ होने के साथ ही दिन भर धूप खिली रही। बारिश का क्रम टूटने से इतने दिन से खेतों में पानी भरने से चिंतित किसानों की चिंता दूर होने लगी है। इधर फतहसागर और पीछोला सहित कई झीलों में आवक बनी हुई है। सीसारमा नदी से आ रहे पानी से स्वरूप सागर फिर से छलकने लगा है तो फतहसागर के रात को चारों गेट बंद कर अगले दिन फिर से खोलने का सिलसिला जारी है।

 

फतहसागर में मदार नहर और बड़ी क्षेत्र के नालों से आवक अभी भी बनी हुई है उस कारण गेट बंद के बाद रात भर में इसके जलस्तर में औसतमन 2 इंच की बढ़ोतरी का क्रम अभी भी बना हुआ है। नेहरू गार्डन में पानी भी नहीं घुसे, इसे ध्यान में रखकर जल संसाधन विभाग दिनभर इसके गेट खु़ले रख रहा है। जयसमंद पर 49 सेंटीमीटर की चादर चलने का क्रम बना हुआ है। मदार के दोनों तालाब का छलकना भी जारी है। हालांकि देवास प्रथम बांध पर चादर चलने का क्रम अब बंद हो गया है। मानसी वाकल, आकोदड़ा बांध और बड़ी तालाब में धीरे धीरे पानी की आवक बनी हुई है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना