उदयपुर

--Advertisement--

छह बेटियों ने मां की अर्थी को दिया कंधा, श्मशान में सभी ने एक साथ दी मुखाग्नि

शहर में जैन समाज में महिला के निधन पर उसकी छह बेटियों ने कंधा देकर एक मुखाग्नि दी।

Danik Bhaskar

Jul 05, 2018, 05:04 PM IST

राजसमंद. शहर में जैन समाज में महिला के निधन पर उसकी छह बेटियों ने कंधा देकर एक मुखाग्नि दी। इनमें से तीन बेटियां पचास साल की उम्र से अधिक होने है। शहर के सौ फीट रोड स्थित महाप्रज्ञ विहार निवासी धापू देवी पत्नी शेषमल डांगी का हार्ट की बीमारी से मंगलवार को अहमदाबाद में निधन हो गया था। धापूदेवी के छह बेटियों ने अपनी मां का अंतिम संस्कार करने की इच्छा जाहिर की।

- मंजू देवी, लीला देवी, मधु देवी, रंजना जैन, अरुणा जैन, चंद्र प्रभा ने अर्थी को कंधा दिया। श्मशान में अंतिम संस्कार सभी रीति रिवाज के अनुसार सभी छह बेटियों ने एक साथ मुखाग्नि देकर किया। बताया कि जैन समाज में पहली बार छह बेटियों ने अपनी मां की अर्थी को कंधा दिया। वहीं श्मशान में भी बेटियों के हाथों से मुखाग्नि दी। इन छह बेटियों में से दो बेटी रंजना जैन और अरुणा सरकारी स्कूल में अध्यापिका है।

Click to listen..