• Hindi News
  • Rajasthan
  • Udaipur
  • Udaipur एससी एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
--Advertisement--

एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन

Udaipur News - सिटी रिपोर्टर | उदयपुर केंद्र सरकार की ओर से एसटी-एससी बिल में लाए गए संशोधन बिल के खिलाफ गुरुवार को उदयपुर के...

Dainik Bhaskar

Sep 07, 2018, 07:11 AM IST
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
सिटी रिपोर्टर | उदयपुर

केंद्र सरकार की ओर से एसटी-एससी बिल में लाए गए संशोधन बिल के खिलाफ गुरुवार को उदयपुर के बाजार बंद रहे। विभिन्न क्षेत्रों में करीब 25 करोड़ का कारोबार प्रभावित रहा। आह्वान के तहत दोपहर 2.30 बजे तक सर्व समाज के लोग सड़कों पर उतरे। ब्राह्मण, राजपूत, वैश्य, जैन, सिंधी, मुस्लिम, सिख सहित अन्य समाजों ने प्रतिष्ठान बंद रखे। अधिकांश व्यापारिक संगठनों ने भी बंद का समर्थन किया। निजी स्कूल और पेट्रोल पंप भी नहीं खुले। इक्का-दुक्का दुकान-प्रतिष्ठान खुले, लेकिन समर्थकों के आग्रह पर बंद कर दिए गए। कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। हालांकि भाजपा कार्यालय पर विस्तारकों के बाइक वितरण से खफा बंद समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया। भाजपा के खिलाफ नारेबाजी भी लगाए। आपात और जरूरी सेवाएं बंद से अछूती रहीं। बापू बाजार, अश्विनी बाजार, हाथीपोल, घंटाघर, बड़ा बाजार, सर्राफा बाजार, मुखर्जी चौक, चौखला बाजार, मोचीवाड़ा, मंडी की नाल, देहली गेट, सूरजपोल, शक्ति नगर, शास्त्री सर्किल, चेतक सर्किल, हिरण मगरी, अशोक नगर और विवि मार्ग सहित सभी बाजार दोपहर 2 बजे तक बंद रहे। उदयपुर इलेक्ट्रिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने भी दुकानें बंद रख एक्ट का विरोध किया। सवर्ण संघर्ष समिति ने एमपीयूएटी और एमएलएसयू के संघटक कॉलेजों को शांतिपूर्वक ढंग से बंद करवाया।

रास्ता रोकने वालों ने बेरिकेड्स हटाकर तुरंत दिया एंबुलेंस को रास्ता

11.15 बजे : टाउनहॉल की ओर से सूरजपोल पहुंची एंबुलेंस को तुरंत बेरिकेड्स हटाकर उदियापोल की ओर रास्ता दिया गया। इसके बाद फिर रास्ता बंद कर दिया।

स्कूल : सरकारी खुले, प्राइवेट में सन्नाटा

निजी स्कूल बंद और सरकारी स्कूल खुले रहे। किसी भी सरकारी स्कूल या शिक्षण संस्था को जबर्दस्ती बंद कराने जैसा मामला सामने नहीं आया।

पेट्रोल पंप : दिन में लोगों को हुई परेशानी, शाम को खुले पंप

संगठनों ने इसे बंद से दूर रखा था, मगर पेट्रोल पंप मालिकों ने स्वेच्छा से फिलिंग स्टेशन बंद रखे। पुलां, चेतक सर्किल, टाउनहॉल, कोर्ट चौराहा, उदियापोल सहित कई पेट्रोल-डीजल पम्प बंद रहे। दोपहर में आमजन को परेशानी हुई। हालांकि देर शाम कुछ पेट्रोल पम्प शुरू कर दिए गए।

शांतिपूर्ण बंद...बाजार-निजी स्कूल, पेट्रोल पंप तक नहीं खुले, बैंक, दवा, एम्बुलेंस सहित जरूरी सेवाओं पर नहीं रहा असर

उदयपुर. विभिन्न समाजों और संगठनों के लोग कलेक्ट्रेट पर एकत्रित हुए। यहां लोगों ने एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन किया।

ज्यादातर बैंक खुले, लेकिन कम ही दिखे ग्राहक

ज्यादातर बैंक खुले रहे, मगर बस स्टैंड, शास्त्री सर्किल की कुछ शाखाओं को बंद समर्थकों ने बंद भी करवाया। आम दिनों के मुकाबले गुरुवार को लेनदेन और लोड बैंकों में लगभग आधा रहा।

भाजपा कार्यालय बंद कराने पर अड़े बंद समर्थक

फल-सब्जी, डेयरी आदि पर असर नहीं

बंद समर्थकों ने फल-सब्जी मार्केट और दूध डेयरियों को बंद से दूर रखा। फल-सब्जी की दुकानें और ठेले लगे रहे। इनको परेशान नहीं किया

बंद समर्थकों ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, गृहमंत्री आदि के खिलाफ नारेबाजी की। करीब एक बजे भाजपा कार्यालय में बाइक वितरण कार्यक्रम और बैठक का पता चला तो बंद समर्थक कार्यालय बंद कराने पहुंच गए। इनकी युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष गजपाल सिंह राठौड़, भाजपा महामंत्री प्रेम सिंह शक्तावत, भाजपा मंडल अध्यक्ष मनोहर चौधरी और भाजपा मीडिया प्रभारी चंचल अग्रवाल आदि से काफी देर बहस हुई। यहां भाजपा पर सवर्णों से धोखा करने और पार्टी के खिलाफ नारे लगाए गए।

सरकार ने आक्रोशित वर्ग के घाव पर नमक छिड़का है : जोशी

भाजपा नेता और भैरोंसिंह शेखावत मंच के अध्यक्ष मांगीलाल जोशी ने कहा कि केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के विरुद्ध एससी-एसटी एक्ट में बदलाव कर सवर्णों को जेल में बंद करने के लिए एक्ट लागू कर दिया है। एक्ट में अग्रिम जमानत का भी विकल्प नहीं है। बिना तफ्तीश के ही व्यक्ति को हवालात में जाना होगा। सरकार को आरक्षण की समीक्षा करनी चाहिए। योग्यता के आधार पर नौकरियां मिलनी चाहिए। सरकार ने आक्रोशित वर्ग के घाव पर नमक छिड़कने का काम किया है।

सरकार इस बंद के मायने नहीं समझ पाई हो तो समझा देंगे : कृष्णावत

सकल राजपूत महासभा के संरक्षक तनवीर सिंह कृष्णावत ने कहा कि विरोध-प्रदर्शन के बाद कलेक्टर को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन नहीं दिए, क्योंकि सरकार इस बंद के मायने समझ गई होगी। अगर नहीं समझ पाई है तो जनव्यापी आंदोलन कर समझा देंगे। विरोध-प्रदर्शन में विप्र फाउंडेशन के लक्ष्मीकांत जोशी, भारत जोशी, गिरीश शर्मा, करणी सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष कुलदीप सिंह ताल, बजरंग सेना मेवाड़ प्रमुख कमलेंद्र सिंह पंवार, धर्मदेव सिंह, मेवाड़ क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष बालू सिंह कानावत, सिख समाज सेवा समिति के अध्यक्ष रवींद्र पाल सिंह कप्पू, छात्रनेता मयूरध्वज सिंह, वसंत वैष्णव आदि की सक्रिय भूमिका रही।

सूरजपोल स्थित एक दुकान से बंद के दौरान देखता व्यापारी।

सूरजपोल चौराहा

बहस हुई, पदाधिकारियों के दखल पर पीछे हटी पुलिस

उदयपुर. 10.53 बजे : सूरजपोल चौराहा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे लोग बेरिकेड्स लगाकर एक ओर से वाहनों को रोक रहे थे। ऐसे में सीआई आदर्श और लोगों के बीच तीखी बहस हो गई। भाजपा नेता मांगीलाल जोशी, राजपूत समाज के पदाधिकारियों व अन्य लोगों के दखल पर पुलिस को पीछे हटना पड़ा।

नहीं खुली दुकानें, ऑटो-बसें चली

ट्रांसपोर्ट : सिटी बस और टैम्पो दिनभर शहर में चले। हालांकि बंद के चलते टैम्पो और बसों में यात्री कम नजर आए।

मेडिकल-हेल्थ : निजी-सरकारी अस्पताल सहित ज्यादातर मेडिकल स्टोर खुले रहे। कुछ व्यापारियों ने दुकानें बंद रखीं।

शहर में दिनभर रहा सन्नाटा

सुबह 10.35 बजे का समय जब दिल्ली गेट चौराहे पर बड़ी मात्रा में ट्रैफिक और जाम रहता है वहीं गुरुवार सुबह दिल्ली गेट पर बंद रहने का नजारा इस तरह का रहा।

Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
X
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Udaipur - एससी-एसटी बिल में संशोधन के खिलाफ एकजुट हुए अनेक समाज और संस्थान, व्यापारिक संगठनों का भी समर्थन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..