अपराध / आठ साल की भतीजी से दुष्कर्म के अभियुक्त चाचा को उम्रकैद



uncle sentenced 8 year jail for raping niece
X
uncle sentenced 8 year jail for raping niece

  • पीड़िता की मां और चचेरे चाचा के बयानों के आधार पर दोषी ठहराया

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 09:57 AM IST

उदयपुर। आठ साल की बच्ची से दुष्कर्म करने के दोषी चाचा पहाड़ा के आड़ाघर देमत निवासी पोपटलाल असारी पुत्र नानजी मीणा को पोक्सो-2 कोर्ट के पीठासीन अधिकारी दिनेश त्यागी ने उम्रकैद सुनाई है। पीड़िता की मां और चचेरे चाचा के बयानों के आधार पर कोर्ट ने दोषी ठहराया है। पीड़िता का पिता अौर पोपटलाल का पिता सगे भाई हैं। 

 

प्रकरण के अनुसार पीड़िता की मां ने 14 अप्रैल 2018 को पहाड़ा थाने में रिपोर्ट दी। रिपोर्ट में बताया कि घटना के दिन वह अपने बच्चों के साथ घर पर थी। पति गुजरात हिम्मतनगर में मजदूरी पर गए हुए थे। दोपहर करीब 12 बजे बेटी रोती हुई आई जिसके हाथ में सलवार थी और खून आ रहे थे। उससे पूछा तो बताया कि बाहर खेल रही थी तब पोपटलाल आया और उसने 10 रुपए देकर बीड़ी लाकर देने की कहा। बच्ची ने दुकानदार दिनेश के यहां से बीड़ी ली और पोपट के घर पहुंची। पोपट ने उसे अंदर खींच लिया और दुष्कर्म किया।

 

वहीं से चचेरा चाचा नारायण पहुंचा तो उसने दरवाजा खोला। बाद में बच्ची को घर भेजा। नारायण ने अपने बयान में कहा कि वह पोपट के घर के बाहर से गुजर रहा था। चिल्लाने की आवाज अाई तो पोपट के घर का दरवाजा खुलवाया। पोपट ने खोला और वहां से भाग गया। बच्ची को गंभीर अवस्था में देखा तो उसे घर पर भेजा।

 

वहीं दुकानदार दिनेश ने भी बयान में इस बात की पुष्टि की कि बच्ची दुकान से बीड़ी लेकर गई। वहीं कोर्ट में पीड़ित और मां ने भी घटना के समर्थन में बयान दिए। कोर्ट ने लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 6 में आजीवन कैद और 10 हजार रुपए जुर्माने सहित अन्य धारा में 1000 रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना