--Advertisement--

बिना थमे, बिना रुके आम पिता की तरह बेटी के ब्याव में जुटे हैं मुकेश

Udaipur News - देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी बेटी के प्री-वेडिंग सेलिब्रेशन के लिए 5 दिसंबर की रात 1.30 बजे प|ी नीता के साथ...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 05:21 AM IST
Udaipur News - unquestionably like the common father daughter is in love with the money mukesh
देश के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी बेटी के प्री-वेडिंग सेलिब्रेशन के लिए 5 दिसंबर की रात 1.30 बजे प|ी नीता के साथ उदयपुर पहुंचे थे। जिस समय दुनिया गहरी नींद में होती है उस समय एयरपोर्ट से बाहर आते समय दोनों के चेहरे पर गजब की ताजगी और संतोष दिख रहा था। तमाम जिम्मेदारियां निभाते हुए जब कोई पिता इस मोड़ पर पहुंचता है तो गजब का अहसास होता है। जाहिर सी बात है दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक की बेटी की शादी हो तो साधन और व्यवस्थाओं की क्या कमी होगी। दर्जनों इवेंट कंपनियों के सैकड़ों कर्मचारी हैं और दुनियाभर का साज-सज्जा का सामान। बड़े होटलों में भव्य सेट तैयार किए गए हैं, दुनियाभर का खाना है। मेहमानों को टैक्सियों की तरह चार्टर ला ले जा रहे हैं। जश्न को यादगार बनाने के लिए शीर्ष कलाकार और आर्टिस्ट बुलाए हैं। लेकिन इन सबके बीच मुकेश की छवि उस आम पिता की तरह रही है जो बिना थके-बिना रुके हर चीज खुद चेक कर रहे हैं। 6 दिसंबर को हर व्यवस्थाएं देखी, उसी दिन दोपहर डेढ़ बजे दिल्ली जाकर विशिष्ट मेहमानों से मिले और रात को 9.30 बजे लौट आए। 7 दिसंबर को नारायण सेवा संस्थान में दिव्यांगों बच्चों के बीच पहुंचे तो भावुक दिखे। वे हाथ जोड़कर बच्चों के बीच जाकर उनकी मनुहार कर रहे थे। प|ी के साथ खाना परोसते जब छोटे बच्चों के पास पहुंचे तो कह रहे थे वापस आ रहा हूं मिठाई खत्म कर देना। यहां महाराष्ट्र की दिव्यांग कलाकर जया ने भगवान श्रीनाथ और अपने पिता धीरुभाई अंबानी की तस्वीर देख कर भी वे भावुक हो गए। जया के पास जाकर उन्होंने एक्सीलेंट कहा।

छह माह से जुटे हैं तैयारी में, कई मंदिरों में दिए न्यौते

वे छह महीने से तैयारी में जुटे हैं। वे या उनके परिवारजन डेढ़ माह से देशभर के मंदिरों में जाकर न्यौता देकर आए। वैंकटेश्वर, तिरुपति बालाजी, तिरुमाता, गुरुववयुर, जगन्नाथ पुरी, सिद्धिविनायक मंदिर, बद्रीनाथ, केदारनाथ, कामाख्या देवी, सोमनाथ व नाथद्वारा जा चुके हैं। अंबानी दंपती ने भावभरा स्वागत किया तो हिलेरी ने दिल पर हाथ रख आभार जताया।

इसलिए रखा बेटी का नाम ईशा

ईशा-आकाश जुड़वा हैं। जब उनका जन्म हुआ तो मुकेश अंबानी मां के साथ अमेरिका जा रहे थे। जब उनका प्लेन पहाड़ों के ऊपर से उड़ रहा था तब उन्हें ये खुशखबरी मिली थी, इसलिए बेटे का नाम आकाश और बेटी का ईशा रखा। ईशा का अर्थ है पहाड़ों की देवी। आकाश-श्लोका की सगाई में मुकेश ईशा के साथ डांस करते हुए भावुक हो गए। इस गाने के बाेल थे कि उंगली पकड़कर तूने चलना सिखाया था ना, दहलीज ऊंची है, ये पार करादे। बाबा मैं तेरी मल्लिका, टुकड़ा हूं दिल का एक बार फिर दहलीज पार करा दे।

X
Udaipur News - unquestionably like the common father daughter is in love with the money mukesh
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..