--Advertisement--

मिस्टर और मिस उदयपुर बनने के लिए बारिश में भी किया वर्कआउट, 2 सितंबर को होंगे अंतिम ऑडिशन

मिस्टर और मिस उदयपुर के 2 सितंबर को होने वाले अंतिम ऑडिशन को लेकर शहर के युवाओं में जबर्दस्त क्रेज है

Danik Bhaskar | Aug 29, 2018, 11:51 AM IST

उदयपुर. मिस्टर और मिस उदयपुर के 2 सितंबर को होने वाले अंतिम ऑडिशन को लेकर शहर के युवाओं में जबर्दस्त क्रेज है। इसका उदाहरण मंगलवार को तेज बारिश के बीच हुए हेल्थ एंड फिटनेस चैलेंज में देखने को मिला, जिसमें सौ से ज्यादा युवक-युवतियों ने तरह-तरह की एक्सरसाइज कर स्टेमिना और फिटनेस को साबित किया। सबसे दिलचस्प टायर वर्क आउट रहा। जिन युवाओं ने कभी अपनी कार की स्टेपनी भी नहीं बदली थी, उनके लिए तेज बारिश के बीच वर्क आउट करते हुए टायर को इधर से उधर घसीटना एडवेंचरस रहा।

- फैशन स्टार की ओर से मिस्टर और मिस उदयपुर के फाइनल ऑडिशन शहर के लेकसिटी मॉल में होंगे। ऑडिशन के लिए यह फिटनेस चैलेंज ओरियंटल पैलेस रिसोर्ट स्थित पीटी स्टूडियो जिम में रखा गया था। पार्टिसिपेंट्स काे जिम के एक्सपर्ट्स ने न सिर्फ एक्सरसाइज करवाई, बल्कि फिटनेस मंत्र भी दिए। वार्म अप से शुरुआत के बाद इन युवाओं को पुशअप्स कराए गए और इसके बाद माउंटेन क्लाइंबिंग के अलावा टायर वर्क-आउट हुआ। टायर से वर्कआउट के तहत पार्टिसिपेंट्स ने खासी मशक्कत की। भारी भरकम टायर्स काे खींच कर इधर से उधर ले जाना उनके लिए काफी रोमांचक रहा। इस दौरान ओरियंंटल पैलेस की एमडी डॉ. श्रद्धा गट्‌टानी, फैशन स्टार के डायरेक्टर आयुष गुप्ता, दामिनी शर्मा, पीटी स्टूडियो के डायरेक्टर विनोद लोहार, मिस्टर उदयपुर-2017 राज मलकीतसिंह, मिस उदयपुर-2017 जूही व्यास आदि मौजूद थे। बता दें कि मिस्टर और मिस उदयपुर के अंतिम ऑडिशन के लिए रजिस्ट्रेशन लेकसिटी मॉल में फैशन स्टार काउंटर पर उपलब्ध हैं।

दिए फिटनेस टिप्स : डाइट प्लान और न्यूट्रीशन के साथ जरूरी है वर्कआउट

फिटनेस चैलेंज में प्रतिभागियों को बताया गया कि कई युवा मॉडल बनना चाहते हैं, क्योंकि इसमें ग्लैमर और आकर्षक है। लेकिन हकीकत यह है कि मॉडलिंग में कंपीटिशन कम नहीं है। इसके बावजूद कामयाब मॉडल वही है, जो खुद को फिट और फ्रेश रखता है। इसके लिए डाइट प्लान आैर न्यूट्रीशन ही काफी नहीं है। वर्कआउट पर भी फोकस जरूरी है और उसे भी रुटीन का हिस्सा बनाना होगा। शुरुआत में यह थोड़ा कठिन लग सकता है, लेकिन हफ्तेभर के लिए भी अगर इसे नियम की तरह अपना लिया, तो यह आपके बायोलॉजिकल क्लॉक में खुद-ब-खुद सेट हो जाएगा। मॉडल्स भले मेल हों या फिमेल, एक्सरसाइज सबसे ज्यादा जरूरी है जो उसे तरो-ताजा और एक्टिव रखती है।